भाजपा ने कमलनाथ के पुतले जलाये, लगाया चीन को फायदा पहुंचाने का आरोप

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 29, 2020   09:33
भाजपा ने कमलनाथ के पुतले जलाये, लगाया चीन को फायदा पहुंचाने का आरोप

कांग्रेस ने भाजपा के आरोपों का खंडन किया है। भाजपा के एक नेता ने बताया कि हमने विरोध प्रदर्शन के तौर पर 1000 जगहों पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का पुतला दहन किया है।

भोपाल। मध्यप्रदेश भाजपा ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ पर केन्द्रीय वाणिज्य मंत्री रहने के दौरान 250 वस्तुओं पर आयात शुक्ल कम करके चीन को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाते हुए रविवार को प्रदेश भर में कमलनाथ का पुतला फूंका। कांग्रेस ने भाजपा के आरोपों का खंडन किया है। भाजपा के एक नेता ने बताया कि हमने विरोध प्रदर्शन के तौर पर 1000 जगहों पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का पुतला दहन किया है।

प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष वी डी शर्मा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने केंद्रीय वाणिज्य मंत्री रहते हुए 250 वस्तुओं पर 40 से 200 प्रतिशत तक आयात शुल्क कम करके चीन को लाभ पहुंचाने का काम किया जिसका परिणाम यह हुआ कि देश में छोटे-छोटे काम करने वालों का रोजगार छिन गया। शर्मा के अनुसार कमलनाथ ने चीन को फायदा पहुंचाने का यह काम कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी के इशारे पर किया। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि भाजपा कांग्रेस और कमलनाथ को निशाना बना रही है क्योंकि भाजपा सरकार चीन से नहीं लड़ सकती है और हमारे क्षेत्र पर कब्जा कर चुके चीनी सैनिकों को पीछे धकेल नहीं सकती है।

इसे भी पढ़ें: शिवराज का कांग्रेस पर पलटवार, कहा- पापियों का विनाश तो पुण्य का काम है

 उन्होंने कहा, ‘‘वे कमलनाथ को निशाना बना रहे हैं क्योंकि उन्हें पता है कि उनके नेतृत्व में कांग्रेस 24 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव जीतने के बाद मध्यप्रदेश की सत्ता में वापसी करने जा रही है।’’ गुप्ता ने कहा कि कमलनाथ एक ईमानदार नेता हैं जिन्होंने हमेशा देशहित को पहले रखा है। गुप्ता का कहना था कि भाजपा ने पिछले छह सालों में देश को बर्बाद कर दिया है। कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि कांग्रेस भी प्रदेश में भाजपा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने की योजना बना रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।