भाजपा महासचिव ने राहुल-सोनिया पर साधा निशाना, बोले- कांग्रेस के शीर्ष नेताओं की सेना के हित में रुचि नहीं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 29, 2020   11:04
भाजपा महासचिव ने राहुल-सोनिया पर साधा निशाना, बोले- कांग्रेस के शीर्ष नेताओं की सेना के हित में रुचि नहीं

पी मुरलीधर राव ने आरोप लगाया, ‘‘अब जब हमारे सैनिक सीमा पर लड़ रहे हैं तब कांग्रेस नेताओं राहुल गांधी, सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी की रुचि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की कुर्सी पर है जिसकी ओर वे देख रहे हैं।’’

चेन्नई। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव पी मुरलीधर राव ने भारत-चीन तनाव के मुद्दे पर केन्द्र की आलोचना के लिए सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए रविवार को कहा कि कांग्रेस नेताओं की रुचि राजनीति में है न कि सेना के हित में।   उन्होंने एमके स्टालिन नीत द्रमुक पार्टी से पूछा कि आखिर वह कांग्रेस से क्यों जुड़ी हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला साल पूरा होने के मौके पर तमिलनाडु भाजपा इकाई की आयोजित डिजिटल रैली को संबोधित करते हुए राव ने कहा कि भारत ने 1962 में चीन के साथ और 1965 और 1971 में पाकिस्तान के साथ लड़ाई लड़ी थी और तब कांग्रेस सत्ता में थी। 

इसे भी पढ़ें: केंद्र के हस्तक्षेप के बाद दिल्ली में कोराना की स्थिति में सुधार: दिल्ली भाजपा प्रमुख

उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने उस समय की सरकार का समर्थन किया था। राव ने आरोप लगाया, ‘‘अब जब हमारे सैनिक सीमा पर लड़ रहे हैं तब कांग्रेस नेताओं राहुल गांधी, सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी की रुचि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की कुर्सी पर है जिसकी ओर वे देख रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ ... उनकी रुचि राजनीति और सत्ता में है न कि सेना के हित और राष्ट्र हित में।’’ राव ने राजीव गांधी फांउडेशन के लिए चीन से चंदा लेने के मुद्दे को लेकर कांग्रेस पर हमला किया। उन्होंने कहा कि 2014 में नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने से पहले भारत के भ्रष्टाचार और घोटाले की हर जगह चर्चा होती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है। देश कारोबार सुगमता में 162वीं रैंक से 43वीं रैंक पर आ गया है। उन्होंने यह जानना चाहा कि सीमा पर जारी तनाव के मुद्दे पर केंद्र का समर्थन करने वाली द्रमुक पार्टी कांग्रेस से क्यों जुड़ी हुई है। राव ने कहा, ‘‘आप उनकी पार्टी से क्यों जुड़े हुए हैं? मैं स्टालिन (केंद्र का समर्थन करने के लिए) के फैसले की प्रशंसा करता हूं। लेकिन राहुल के साथ क्या हो रहा है? राजीव गांधी फांउडेशन के लिए चीन से पैसा लेने पर क्या आपको आलोचना नहीं करनी चाहिए, इसकी निंदा करें, इससे खुद को अलग करें।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।