केंद्र सरकार का एजेंडा आर्थिक विकास से हटकर केवल राजनीति तक सिमट गया: ममता

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Aug 11 2019 5:31PM
केंद्र सरकार का एजेंडा आर्थिक विकास से हटकर केवल राजनीति तक सिमट गया: ममता
Image Source: Google

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि जून 2019 में समाप्त अंतिम तिमाही में नयी परियोजनाओं में निवेश 15 साल के सबसे निचले स्तर पर चला गया।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को कहा कि भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार का एजेंडा आर्थिक विकास से हटकर केवल राजनीति तक सिमट गया है। लोगों से देश की सही स्थिति से अवगत होने का आग्रह करते हुए उन्होंने कई पीएसयू का निगमीकरण करने के लिए केंद्र सरकार के कदम की आलोचना की। बनर्जी ने फेसबुक पर एक पोस्ट में कहा कि जून 2019 में समाप्त अंतिम तिमाही में नयी परियोजनाओं में निवेश 15 साल के सबसे निचले स्तर पर चला गया। जून 2019 तिमाही में घोषित नयी परियोजनाएं मार्च 2019 तिमाही में घोषित परियोजनाओं की तुलना में 81 प्रतिशत कम है और एक साल पहले इसी अवधि की तुलना में 87 प्रतिशत कम है।

इसे भी पढ़ें: प्रशांत किशोर पर भाजपा का आरोप, कहा- उनकी टीम WB सरकार में कर रही हस्तक्षेप

बनर्जी ने कहा कि हर कोई यह देख सकता है और हमारा देश अभी कहां है, इस बारे में सही स्थिति से अवगत होना चाहिए। सरकार का एजेंडा अर्थव्यवस्था और विकास से हटकर राजनीति और केवल राजनीति तक सिमट गया है। बनर्जी ने ऑर्डिनेंस फैक्टरी बोर्ड, बीएसएनएल और भारतीय रेलवे सहित कई पीएसयू का निगमीकरण करने के लिए केंद्र सरकार के कथित कदम की भी आलोचना की। उन्होंने दावा किया कि इससे लाखों-लाखों लोग बेरोजगार हो जाएंगे। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने ऑटोमोबाइल और चमड़ा सेक्टर में हाल में नौकरी जाने को दुखद बताया। उन्होंने कहा कि रोजगार के ज्यादा अवसर सृजित करने के एजेंडे के साथ सरकार सत्ता में आयी थी। अब हम देख रहे हैं कि जिनके पास रोजगार है, वे अपनी नौकरी गंवा रहे हैं।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video