भाजपा धर्म और जाति के नाम लगातार नफरत फैला रही है: अखिलेश यादव

Akhilesh Yadav
संत रविदास जयंती पर वाराणसी पहुंचे अखिलेश यादव ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे देश में लोग एक- दूसरे के धर्म और संप्रदाय पर भरोसा करते हैं, यह हमारे देश की खूबी रही है। सपा अध्यक्ष ने आरोप लगाए कि भारत की संस्कृति और एकता के बीच में कोई सबसे ज्यादा नफरत फैलाने का काम कर रहा है तो वे भाजपा के लोग हैं।
वाराणसी। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी देश में धर्म और जाति के नाम पर लगातार नफरत फैला रही है। संत रविदास जयंती पर वाराणसी पहुंचे अखिलेश यादव ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे देश में लोग एक- दूसरे के धर्म और संप्रदाय पर भरोसा करते हैं, यह हमारे देश की खूबी रही है। सपा अध्यक्ष ने आरोप लगाए कि भारत की संस्कृति और एकता के बीच में कोई सबसे ज्यादा नफरत फैलाने का काम कर रहा है तो वे भाजपा के लोग हैं। उहोंने कहा कि मिर्जापुर में आयोजित एक कार्यकर्ता शिविर में हमने अपने कार्यकर्ताओं को बताया कि आने वाले समय में यह एक बहुत बड़ा संकट का रूप लेने वाला है और यदि हमने देश को इस संकट से नहीं उबारा तो हमारे देश के लोकतंत्र को खतरा का सामना करना पड़ सकता है। अखिलेश यादव ने कहा कि हमारा रास्ता धर्मनिरपेक्ष और समाजवाद का है। भाजपा सरकार की नीतियों पर प्रहार करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी नीतियों से हमारी अर्थव्यवस्था और भारत के लोगों का नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि भाजपा की केंद्र और प्रदेश सरकारें नए एसेट्स बनाने की बजाय पुराने एसेट्स बेचने में लगी हुई हैं। कांग्रेस से दोबारा गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि आने वाले समय में समाजवादी पार्टी किसी भी बड़ी पार्टी से गठबंधन नहीं करेगी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़