भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दीनदयाल उपाध्याय को श्रद्धांजलि अर्पित की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 25, 2019   13:15
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दीनदयाल उपाध्याय को श्रद्धांजलि अर्पित की

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि दीनदयाल जी कहते थे कि जब तक हम समाज के गरीब-से-गरीब व्यक्ति तक विकास नहीं पहुंचाते, तब तक देश की स्वतंत्रता का कोई अर्थ नहीं। उनकी प्रेरणा से अनेकों राष्ट्रभक्तों ने जीवन के सभी सुखों को त्याग, देश सेवा के लिए अपना जीवन समर्पित किया।

नयी दिल्ली। भाजपा अध्यक्ष एवं गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को पंडित दीनदयाल उपाध्याय को उनकी 103वीं जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उनके विचारों व सिद्धांतों के बीज ने देश को एक वैकल्पिक विचारधारा दी और मोदी सरकार उनके अंत्योदय के सपने को साकार करने में जुटी है।  शाह ने भाजपा मुख्यालय में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। इस दौरान भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा, भाजपा के वरिष्ठ नेता श्याम जाजू आदि मौजूद थे। 

भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने झंडेवालान, नई दिल्ली में  सेवा कार्यक्रम  के अंतर्गत रानी लक्ष्मीबाई जी की प्रतिमा की साफ-सफाई की  अमित शाह ने ट्वीट किया, ‘‘ मानवता के सच्चे उपासक, अद्भुत संगठनकर्ता और हम सबके प्रेरणास्त्रोत पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की जयंती पर उनको कोटि-कोटि नमन।’’उन्होंने कहा, ‘‘ भाजपा के एक कार्यकर्ता के नाते हमें गर्व है कि गत पांच वर्षों से प्रधानमंत्री के नेतृत्व में चल रही सरकार ने गरीबों के कल्याण के अपने अडिग लक्ष्य से पंडित दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानववाद के दर्शन और अंत्योदय की विचारधारा को साकार कर के दिखाया है।’’ 

इसे भी पढ़ें: चुनाव में जमानत जब्त होने पर भी सेलिब्रेट करने वाले राजनेता, जिनके आगे पीएम मोदी भी करते हैं सजदा

उन्होंने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय जी एक ऐसे युगद्रष्टा थे जिनके द्वारा बोये गए विचारों व सिद्धांतों के बीज ने देश को एक वैकल्पिक विचारधारा दी। उनकी विचारधारा सत्ता प्राप्ति के लिए नहीं बल्कि राष्ट्र पुनर्निर्माण के लिए थी और भारत को उसके गौरव पर पुनर्स्थापित करने के लिए थी। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि दीनदयाल जी कहते थे कि जब तक हम समाज के गरीब-से-गरीब व्यक्ति तक विकास नहीं पहुंचाते, तब तक देश की स्वतंत्रता का कोई अर्थ नहीं। उनकी प्रेरणा से अनेकों राष्ट्रभक्तों ने जीवन के सभी सुखों को त्याग, देश सेवा के लिए अपना जीवन समर्पित किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...