विवाद बढ़ने के बाद भाजपा ने हटाया CM गहलोत का विवादित कार्टून, OSD ने पूनियां पर साधा निशाना, कहा- पद की एक गरिमा होती है

विवाद बढ़ने के बाद भाजपा ने हटाया CM गहलोत का विवादित कार्टून, OSD ने पूनियां पर साधा निशाना, कहा- पद की एक गरिमा होती है
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

भाजपा ने अपने ऑफिशियल पेज पर मुख्यमंत्री गहलोत का विवादित कार्टून साझा किया। हालांकि विवाद बढ़ने के बाद भाजपा ने कार्टून को हटा दिया है। इस संबंध में मुख्यमंत्री गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा का भी बयान आया। जिसमें उन्होंने नाराजगी जताते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां पर निशाना साधा।

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के विवादित कार्टून को लेकर राजस्थान की सियासत गर्मा गयी है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने ऑफिशियल पेज पर मुख्यमंत्री गहलोत का विवादित कार्टून साझा किया। हालांकि विवाद बढ़ने के बाद भाजपा ने कार्टून को हटा दिया है। इस संबंध में मुख्यमंत्री गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा का भी बयान आया। जिसमें उन्होंने नाराजगी जताते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां पर निशाना साधा। 

इसे भी पढ़ें: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मांग, रामनवमी पर सात राज्यों में हुए दंगों की जांच हो 

ओएसडी लोकेश शर्मा ने ट्वीट किया कि यह आलोचना का कौन सा तरीका है भाजपा ?? राजनीति के लिए इस निम्न स्तर पर उतरकर प्रदेश के मुख्यमंत्री को इस तरह दिखाना निहायत ही घटिया, शर्मनाक और बेहद निंदनीय है। डॉ. सतीश पूनियां जी पद की एक गरिमा होती है जिसे बनाए रखना आपकी भी जिम्मेदारी है।

भाजपा ने कौन सा ट्वीट हटाया ?

भाजपा ने मुख्यमंत्री गहलोत का विवादित कार्टून साझा करते हुए लिखा था कि कहीं हत्या, कहीं बलात्कार, कहीं दंगे और कहीं भ्रष्टाचार, गत साढ़े 3 साल में राजस्थान वालों का कोई दिन ऐसा नहीं गया जब इन खबरों से सामना न हुआ हो। इन हालातों में जब अपराध से राजस्थान जल रहा है, राजस्थान के मुख्यमंत्री चैन की नींद ले रहे है। हालांकि ट्वीट को लेकर विवाद बढ़ने के बाद भाजपा ने अपने आधिकारिक पेज से इसे हटा दिया है। 

इसे भी पढ़ें: जोधपुर में ईद के मौके पर हुई हिंसा में अब तक पुलिस ने 211 लोगों को किया गिरफ्तार, कर्फ्यू जारी 

राजस्थान के जोधपुर इलाके में ईद के मौके पर भड़की हिंसा को लेकर भाजपा ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा है। डॉ. सतीश पूनियां ने कहा था कि राजस्थान में कानून-व्यवस्था की स्थिति चुनौतीपूर्ण बनी हुई है। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया था कि इस तरह की घटनाओं के लिए राज्य सरकार का संरक्षण जिम्मेदार है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।