भाजपा का राहुल पर तंज, कहा- ट्वीट छोड़ कांग्रेसी CMs से कोरोना के मृतक आंकड़ों पर बात करें

भाजपा का राहुल पर तंज, कहा- ट्वीट छोड़ कांग्रेसी CMs से कोरोना के मृतक आंकड़ों पर बात करें

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ गठबंधन का हिस्सा है और वहां महामारी से सबसे अधिक मौत हुई है जबकि कांग्रेस शासित राजस्थान में वास्तविक मौतों और सरकारी आंकड़ों में बहुत फर्क है।

देश में कोरोना वायरस का संकट अब भी बरकरार है। कोरोना संकट के बीच राजनीतिक वार-पलटवार भी लगातार जारी है। मौत के आंकड़े को लेकर विपक्ष लगातार सरकार पर निशाना साधा रहा है। कांग्रेस की ओर से भाजपा शासित राज्यों में मौत पर सवाल उठाए जा रहे है। कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा शासित राज्य मौत के आंकड़े को छुपा रहे है। खुद राहुल गांधी ने भी कई ट्वीट करके इस तरह के आरोप भाजपा शासित राज्यों पर लगा चुके हैं। इन सब बातों को लेकर भाजपा की ओर से अब राहुल गांधी पर पलटवार किया गया है। भाजपा ने कोरोना वायरस संक्रमण से हुई मौतों को लेकर राहुल पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए उन्हें विपक्ष शासित महाराष्ट्र में महामारी से हुई मौतों की ओर ध्यान दिलाया तथा कहा कि वह जानते कुछ नहीं हैं लेकिन हर विषय पर बोलते हैं।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ गठबंधन का हिस्सा है और वहां महामारी से सबसे अधिक मौत हुई है जबकि कांग्रेस शासित राजस्थान में वास्तविक मौतों और सरकारी आंकड़ों में बहुत फर्क है। उन्होंने राहुल गांधी पर झूठ बोलने और दुष्प्रचार करने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘ट्वीटर की दुनिया में रहने से बेहतर होगा वह फोन उठाए और जहां जहां कांग्रेस सत्ता में है वहां के मुख्यमंत्रियों से बात करें।’’ उन्होंने कहा, ‘‘वह जमीन पर उतरेंगे नहीं और काम नहीं करेंगे बल्कि हर दिन एक ट्वीट जरूर करेंगे। ऐसा करके वह कोरोना का भगा नहीं पाएंगे।’’ पात्रा ने कहा कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष को फोन कर अपने मुख्यमंत्रियों से बात करनी चाहिए और उनसे कोरोना के खिलाफ उपयुक्त कदम उठाने को कहना चाहिए। राहुल गांधी ने बुधवार को आरोप लगाया कि कोरोना वायरस संक्रमण से हुई मौतों के लेकर सरकार झूठ बोल रही है। उन्होंने अमेरिकी अखबार ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ की खबर का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘‘आंकड़े झूठ नहीं बोलते, भारत सरकार बोलती है।’’ गांधी सहित अन्य कांग्रेसी नेताओं पर निशाना साधते हुए पात्रा ने कहा कि टीकों को लेकर पहले तो इन विपक्षी नेताओं ने भ्रम फैलाया और कई विपक्षी मुख्यमंत्रियों ने तो स्वदेश निर्मित कोवैक्सीन टीकों पर सवाल उठाए। उन्होंने सवाल किया कि राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने टीकों की खुराक ली है कि नहीं? 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में कोरोना टीकाकरण के लिए नवीन निर्देश जारी

भाजपा प्रवक्ता ने इस दौरान टीकाकरण अभियान को लेकर विपक्षी दलों की आलोचनाओं पर पलटवार करते हुए दावा किया कि टीकों का घरेलू उत्पादन बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है और 2021 के अंत तक भारत टीकों की 200 करोड़ से अधिक खुराकों का उत्पादन कर लेगा। उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि बच्चों का टीकाकरण किए जाने संबंधी उनका बयान अनावश्यक है क्योंकि अभी तक किसी भी देश ने बच्चों के लिए टीका विकसित नहीं किया है। पात्रा ने कहा कि सरकार की बातचीत का ही नतीजा है कि रूस का स्पूतनिक टीका भारत लाया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘डॉ. रेड्डी लैब के साथ उसका उत्पादन भारत में बढ़ाया जाएगा, अब वो तकनीक भी भारत में लायी जाएगी।भारत बायोटेक के पास अपना लाइसेंस है। केंद्र सरकार ने ये निर्धारित किया कि भारत बायोटेक अपने लाइसेंस को तीन और कंपनियों के साथ साझा करे, ताकि वो भी को-वैक्सीन के उत्पादन को शुरु कर सकें।’’ उन्होंने कहा कि भारत में छह कंपनियां स्पुतनिक टीकों का उत्पादन करेंगी। पात्रा ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने यह बात कहकर भ्रम फैलाने की कोशिश की कि देश बच्चों को टीका नहीं दे रहा। उन्होंने कहा, ‘‘टीकाकरण एक वैज्ञानिक तरीका है और पूरे विश्व में कहीं भी बच्चों को टीका नहीं दिया जा रहा। अभी इसका परीक्षण चल रहा है। भारत में भी यथाशीघ्र ये परीक्षण शुरु होने जा रहा है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।