पाकिस्तान में BrahMos मिसाइल गिरने का मामला, वायुसेना के 3 अधिकारियों को किया गया बर्खास्त

BrahMos missile
Creative Common
अभिनय आकाश । Aug 23, 2022 7:05PM
भारतीय वायु सेना की तरफ से बयान जारी कर कहा गया कि 9 मार्च 2022 को ब्रह्मोस मिसाइल मिसफायरिंग घटना के लिए मुख्य रूप से तीन अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया गया है।

ब्रह्मोस मिसाइल मिसफायर मामले में मंगलवार को भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के तीन अधिकारियों की सेवा समाप्त कर दी गई। एक ग्रुप कैप्टन और दो विंग कमांडरों को मंगलवार को बर्खास्त कर दिया गया। घटना इसी साल मार्च की है। भारतीय वायु सेना की तरफ से बयान जारी कर कहा गया कि 9 मार्च 2022 को ब्रह्मोस मिसाइल मिसफायरिंग घटना के लिए मुख्य रूप से तीन अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया गया है। केंद्र सरकार द्वारा उनकी सेवाओं को तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया गया है। अधिकारियों को आज, 23 अगस्त को बर्खास्तगी के आदेश दिए गए हैं।

इसे भी पढ़ें: पंजाब में भारत-पाक सीमा पर बरामद हुआ हथियारों का जखीरा, BSF को सीमापार से तस्करी का शक

भारतीय वायु सेना के अधिकारी के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआई ने कहा कि जिन अधिकारियों को सेवा से बर्खास्त किया गया है उनमें एक ग्रुप कैप्टन, एक विंग कमांडर और एक स्क्वाड्रन लीडर शामिल हैं। अधिकारी मानक संचालन प्रक्रियाओं से भटक गए जिसके कारण मिसाइल की आकस्मिक फायरिंग हुई।  इस साल मार्च महीने में जब पाकिस्तान में गलती से भारत की ब्रह्मोस मिसाइल फायर कर दी गई थी, ये एक बड़ा विवाद बना था। इस हादसे में कोई जानमाल का नुकसान नहीं हुआ था। इस घटना के बाद पाकिस्तान में खलबली मच गई थी, वहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में सफाई देते हुए कहा था कि यह मिसाइल अनजाने में चली गई थी।

अन्य न्यूज़