बीएसएफ जवान ने सर्विस राइफल से खुद को मारी गोली, मौके पर मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 28, 2022   12:46
बीएसएफ जवान ने सर्विस राइफल से खुद को मारी गोली, मौके पर मौत
Prabhasakshi

बीएसएफ के जवान ने आत्महत्या की।पुलिस अधिकारियों ने बताया कि शव को कोयलीबेड़ा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में रखा गया है। पोस्टमार्टम के बाद शव उसके गृहग्राम भेजा जाएगा। उन्होंने बताया कि आत्महत्या के कारणों के संबंध में अभी तक जानकारी नहीं मिली है।

कांकेर। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कांकेर जिले में सीमा सुरक्षा बल के जवान ने कथित तौर पर खुद को गोली मार कर आत्महत्या कर ली। कांकेर जिले के पुलिस ​अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यहां बताया कि जिले के कोयलीबेड़ा थाना क्षेत्र के अंतर्गत कामटेडा शिविर में बीएसएफ की 30वीं बटालियन के जवान उज्जवल नंदी (33) ने अपनी सर्विस रायफल से खुद को गोली मार ली। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जानकारी के मुताबिक नंदी सुबह लगभग सात बजे अपने बैरक में था तब उसने खुद को गोली मार ली। जब शिविर में मौजूद अन्य जवानों को इस घटना की जानकारी मिली तब उन्होंने इसकी सूचना अधिकारियों को दी और जवान को अस्पताल पहुंचाया गया।

इसे भी पढ़ें: लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर भीषण सड़क हादसा, एक ही परिवार के छह लोगों की मौत

जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उन्होंने बताया कि जवान पश्चिम बंगाल के नदिया जिले का रहने वाला था, उसके परिजन को घटना की जानकारी दे दी गई है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि शव को कोयलीबेड़ा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में रखा गया है। पोस्टमार्टम के बाद शव उसके गृहग्राम भेजा जाएगा। उन्होंने बताया कि आत्महत्या के कारणों के संबंध में अभी तक जानकारी नहीं मिली है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है तथा मामले की जांच की जा रही है। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कांकेर जिले में सीमा सुरक्षा बल के जवानों को नक्सल विरोधी अभियान के लिए तैनात किया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...