ज़िला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ेगी बसपा, मायावती बोलीं- सपा की गलती दोहरा रही भाजपा

ज़िला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ेगी बसपा, मायावती बोलीं- सपा की गलती दोहरा रही भाजपा

पार्टी के लोगों को निर्देश है कि वे इस चुनाव में अपना समय और ताकत लगाने की बजाय पार्टी के संगठन को मजबूत बनाने और सर्व समाज में पार्टी के जनाधार को बढ़ाने में लगाएं। संगठन को मजबूत करने का काम किया जा रहा है। हम विधानसभा चुनाव की तैयारी कर रहे हैं।

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि पंजाब को छोड़कर उनकी पार्टी उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में अकेले चुनाव लड़ेगी। मायावती ने यह भी कहा कि जिला अध्यक्ष पद का भी चुनाव उनकी पार्टी नहीं लड़ेगी। उन्होंने कहा कि बसपा ने इस समय प्रदेश में हो रहे ज़िला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को न लड़ने का निर्णय लिया है। पार्टी के लोगों को निर्देश है कि वे इस चुनाव में अपना समय और ताकत लगाने की बजाय पार्टी के संगठन को मजबूत बनाने और सर्व समाज में पार्टी के जनाधार को बढ़ाने में लगाएं। संगठन को मजबूत करने का काम किया जा रहा है। हम विधानसभा चुनाव की तैयारी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि प्रदेश की जनता लोकतंत्र को बचाने के लिए अगले चुनाव में यहां की जनता बसपा की सरकार जरूर बनाएगी। मायावती ने यह भी कहा कि आज भाजपा समाजवादी पार्टी के रास्ते पर चल रही है। उन्होंने इस आरोप का भी जवाब दिया कि उनकी पार्टी चुनाव को लेकर गंभीरता नहीं दिखा रही है। उन्होंने कहा कि हम चुनाव को लेकर लगातार तैयारी कर रहे हैं। हम दूसरी पार्टी की तरह दिखावे के लिए मीडिया को नहीं बुलाते है। उन्होंने कहा कि साजिश के तहत तब बसपा के खिलाफ अफवाह फैलाया जा रहा है।  अफवाह से सावधान रहने की जरूरत है।

 

इसे भी पढ़ें: मायावती ने किया बड़ा ऐलान, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में अकेले विधानसभा चुनाव लड़ेगी बसपा

 

उन्होंने कहा यूपी को बचाना है बचाना है, बीएसपी को सत्ता में लाना है लाना है। उन्होंने कहा कि इस बार उत्तर प्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी की सरकार बन सकेगी। जब यहां बसपा की सरकार बन जाएगी तो ज़िला पंचायत अध्यक्ष खुद ही बसपा में शामिल हो जाएंगे। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।