केरल से प्रवासी श्रमिकों को पश्चिम बंगाल ले जा रही बस पलटी, आठ लोग घायल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 31, 2020   12:59
केरल से प्रवासी श्रमिकों को पश्चिम बंगाल ले जा रही बस पलटी, आठ लोग घायल

बस 30 यात्रियों को केरल के एर्नाकुलम से पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद ले जा रही थी। बस्ता पुलिस थाना प्रभारी निरीक्षक मानस कुमार देव ने बताया कि ट्रक ने स्पष्ट रूप से बस से आगे निकलने के चक्कर में उसे टक्कर मार दी।

बालासोर (ओडिशा)। देशभर में लागू लॉकडाउन के कारण केरल में फंसे प्रवासी श्रमिकों को पश्चिम बंगाल ले जा रही बस को ओडिशा के बालासोर जिले में एक ट्रक ने टक्कर मार दी, जिससे कम से कम आठ लोग घायल हो गए। इस हादसे से एक ही दिन पहले भी केरल से प्रवासी मजदूरों को ले जा रही एक बस शनिवार को यहां पलट गई थी जिसके कारण सात लोग घायल हो गए थे। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि रविवार को बस को यहां से करीब 30 किलोमीटर दूर राष्ट्रीय राजमार्ग 60 पर एक ट्रक ने पीछे से टक्कर मार दी।

इसे भी पढ़ें: उत्तर-पश्चिम भारत में गर्मी से राहत, उत्तर प्रदेश में बारिश से जुड़ी घटनाओं में पांच की मौत

बस 30 यात्रियों को केरल के एर्नाकुलम से पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद ले जा रही थी। बस्ता पुलिस थाना प्रभारी निरीक्षक मानस कुमार देव ने बताया कि ट्रक ने स्पष्ट रूप से बस से आगे निकलने के चक्कर में उसे टक्कर मार दी। इस हादसे में कम से कम आठ लोग घायल हो गए। उन्होंने बताया कि घायलों को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है।

अधिकारी ने बताया कि शेष यात्रियों को एक अस्थायी शिविर में ठहराया गया है और उन्हें भोजन, पानी एवं अन्य आवश्यक सामग्री मुहैया कराई गई है। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के कारण केरल में फंसे प्रवासी कामगार पश्चिम बंगाल लौट रहे थे। उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल में संबंधित प्राधिकारियों को इस हादसे की जानकारी दे दी गई है और प्रवासी श्रमिकों को किसी अन्य बस से उनके गंतव्य भिजवाने की व्यवस्था की जा रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।