महाराष्ट्र में चार लोगों के खिलाफ बाल एवं बंधुआ मजदूरी कराने का मामला दर्ज

Case
prabhasakshi
महाराष्ट्र के ठाणे और पालघर जिलों में चार लोगों के खिलाफ बच्चों को काम पर रखने और बंधुआ मजदूरी करने के आरोप में मामले दर्ज किए गए हैं। पुलिस के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि ठाणे के पडघा थाने और पालघर के जवहार थाने में सोमवार को मामले दर्ज किए गए।

ठाणे/पालघर। महाराष्ट्र के ठाणे और पालघर जिलों में चार लोगों के खिलाफ बच्चों को काम पर रखने और बंधुआ मजदूरी करने के आरोप में मामले दर्ज किए गए हैं। पुलिस के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि ठाणे के पडघा थाने और पालघर के जवहार थाने में सोमवार को मामले दर्ज किए गए लेकिन अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है। पुलिस के अनुसार, जवहार थाने में देवराम कांदाडकर और पुंडलिक कांदाडकर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

इसे भी पढ़ें: फूलपुर से चुनाव लड़ने की अटकलों पर नीतीश ने तोड़ी चुप्पी, कहा- विपक्ष को एकजुट करना हमारा मकसद

आरोप है कि वे छह और आठ साल की दो बहनों को अकोला के अहमदनगर से लेकर आए और उन्हें भेड़ और बकरियों को चराने के काम पर लगा दिया। अधिकारी ने कहा कि बच्चियों ने मार्च 2021 से इस महीने तक काम किया और उनके माता को जवहार में मामूली रकम दी गई।

इसे भी पढ़ें: राहुल भारत जोड़ो यात्रा के बीच नहीं लौटेंगे दिल्ली, क्या शशि थरूर VS अशोक गहलोत ही होगा कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव?

उन्होंने बताया कि इसी तरह रायगढ़ के भीवा गोयकर और अहमदनगर के संबाजी खतल के खिलाफ दो प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं। अधिकारी के मुताबिक, उन पर आरोप है कि उन्होंने कुछ साल से पढघा के 17 वर्षीय और 12 साल के दो लड़कों को काम पर रखा हुआ था। अधिकारी ने बताया कि पीड़ित बच्चों के माता-पिता की शिकायतों पर बंधुआ मजदूर व्यवस्था (उन्मूलन) अधिनियम, बाल श्रमिक (निषेध व नियमन) कानून और किशोर न्याय अधिनियम के तहत मामले दर्ज किए गए हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़