केंद्र ने मुझे पाकिस्तान यात्रा के लिए ‘राजनीतिक स्वीकृति’ देने से मना किया: मनोज झा

Manoj Kumar Jha
ANI
पाकिस्तान की जानीमानी मानवाधिकार कार्यकर्ता आसमा जहांगीर की याद में 23 अक्टूबर को लाहौर में आयोजित कार्यक्रम में ‘लोकतांत्रिक अधिकारों की रक्षा में राजनीतिक दलों की भूमिका’ विषय पर संबोधन के लिए झा को पड़ोसी देश जाना था।
नयी दिल्ली। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के राज्यसभा सदस्य मनोज झा ने सोमवार को कहा कि उनकी प्रस्तावित पाकिस्तान यात्रा को केंद्र सरकार ने‘राजनीतिक स्वीकृति’ देने से मना कर दिया है। पाकिस्तान की जानीमानी मानवाधिकार कार्यकर्ता आसमा जहांगीर की याद में 23 अक्टूबर को लाहौर में आयोजित कार्यक्रम में ‘लोकतांत्रिक अधिकारों की रक्षा में राजनीतिक दलों की भूमिका’ विषय पर संबोधन के लिए झा को पड़ोसी देश जाना था। 

इसे भी पढ़ें: क्या फेल हो गया तेजस्वी का A-Z समीकरण! राजद कोटे के दोनों सवर्ण मंत्रियों की नीतीश कैबिनेट से हो चुकी है विदाई

झा ने अपने आवेदन को खारिज किये जाने को ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ करार देते हुए कहा कि यह यात्रा उन्हें लोगों के लोकतांत्रिक अधिकारों के लिए लड़ाई में भारतीय राजनीतिक दलों की महान परंपरा को रेखांकित करने का अवसर देती। उन्होंने कहा कि आसमां जहांगीर पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के अधिकारों के लिए लड़ने वाली कार्यकर्ता थीं। 2018 में उनका निधन हो गया था। राजद नेता ने कहा कि उन्हें गृह मंत्रालय से विदेशी अनुदान (नियमन) अधिनियम संबंधी मंजूरी मिल गयी, लेकिन विदेश मंत्रालय ने उन्हें राजनीतिक स्वीकृति नहीं दी। 

उन्होंने कहा, ‘‘इससे मुझे भारतीय संसद की ओर से यह बताने का अवसर मिलता कि हम जनता के लोकतांत्रिक अधिकारों के लिए सड़कों पर और संसद में कैसे लड़ते हैं।’’ झा ने कहा कि उन्होंने 20 अक्टूबर को वाघा सीमा के रास्ते पाकिस्तान जाने और 24 अक्टूबर को लौटने की योजना बनाई थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़