चाट के चक्कर में जमकर चले लाठी-डंडे, फिर ट्रेंड करने लगे 'आइंस्टीन' लुक वाले ये चाचा

  •  अभिनय आकाश
  •  फरवरी 23, 2021   17:42
  • Like
चाट के चक्कर में जमकर चले लाठी-डंडे, फिर ट्रेंड करने लगे 'आइंस्टीन' लुक वाले ये चाचा

अलग-अलग चाट दुकानदार ग्राहकों को अपनी तरफ बुला रहे थे। कोई कह रहा था कि मेरी दुकान पर आइए तो कोई कह रहा था कि हमारा चाट सबसे बेहतर है। इसी दौरान आपस में बहस शुरू हुई जो देखते ही देखते मारपीट में तब्दील हो गई। लात-घूंसे एक दूसरे पर बरसने लगे।

उत्तर प्रदेश के बागपत में चाट के चक्कर में ऐसा गदर मचा कि सब देखते रह गए। मारपीट तो आपने बहुत देखी होगी लेकिन ऐसी मारपीट आपने कम ही देखी होगी जब बीच बाजार एक-दूसरे पर डंडे बरसाते दुकानदार। कोई नीचे गिर रहा है तो किसी पर जमकर डंडे बरस रहे हैं। दरअसल, उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के बड़ौत की है जहां पर दो गुटों में बहस के बाद दोनों तरफ के समर्थक एक-दूसरे पर जमकर लाठियां चलाने लगे। 

भयंकर मारपीट के पीछे की कहानी

खबरों के अनुसार अलग-अलग चाट दुकानदार ग्राहकों को अपनी तरफ बुला रहे थे। कोई कह रहा था कि मेरी दुकान पर आइए तो कोई कह रहा था कि हमारा चाट सबसे बेहतर है। इसी दौरान आपस में बहस शुरू हुई जो देखते ही देखते मारपीट में तब्दील हो गई। लात-घूंसे एक दूसरे पर बरसने लगे। जिसके हाथ में जो लगा वो उसी को लेकर एक-दूसरे की धुनाई करने में लग गया। 

इसे भी पढ़ें: दिशा रवि को लेकर अनिल विज के ट्वीट को हटाने से ट्विटर का इनकार, कहा- दिशा-निर्देश का नहीं हुआ उल्लंघन

हरेंद्र VS नरेंद्र

हरेंद्र 40 साल से शिव चाट की दुकान चला रहा है। लेकिन कुछ समय पहले नरेंद्र ने दुर्गा चाट भंडार नाम से दुकान खोल ली। हरेंद्र का आरोप है कि जैसे ही कोई ग्राहक उनकी दुकान पर आता है। नरेंद्र और उसके कारिगर उसे अपनी तरफ खींच लेते हैं। बीते दिनों भी दोनों दुकानदारों में इसी बात को लेकर बहस हुई और बहस के बाद संग्राम की नौबत आ गई। 

 चाचा का आइंस्टीन लुक

बागपत में चाट दुकानदारों के बीच छिड़ी जंग के बाद इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए और इसको लेकर मीम्स भी वायरल हो रहे हैं। वीडियो में नजर आए चाचा को लोग हीरो बता रहे हैं तो उनके हेयरस्टाइल की तुलना साइंटिस्ट अलबर्ट आइंस्टीन से कर रहे हैं। चाचा का क्रेज इतना बढ़ गया कि #Chahcha ट्रेंड करने लगा। ट्विटर पर ट्रेंड होने वाले चाचा का नाम हरेंद्र है। उन्होंने कहा कि वो साईं बाबा के भक्त हैं और पूजा करते हैं। उन्होंने कहा कि वे अपने बालों को हरिद्वार में बहाते हैं और दो साल में एक बार ही बालों को कटवाते हैं।  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


वित्त मंत्रालय ने जताई आशंका, 2020-21 वर्ष में कम हो सकती है भारतीय अर्थव्यवस्था मे गिरावट

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 6, 2021   11:20
  • Like
वित्त मंत्रालय ने जताई आशंका,  2020-21 वर्ष में कम हो सकती है भारतीय अर्थव्यवस्था मे गिरावट

वित्त मंत्रालय ने कहा है कि चालू वित्त वर्ष 2020-21 में भारतीय अर्थव्यवस्था का प्रदर्शन आठ प्रतिशत की गिरावट के अनुमान से बेहतर रहेगा। वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि महामारी में गिरावट के रुख में ठकराव तथा टीकाकरण शुरू होने के बाद अब आर्थिक गतिविधियां रफ्तार पकड़ रही हैं।

नयी दिल्ली। वित्त मंत्रालय ने कहा है कि चालू वित्त वर्ष 2020-21 में भारतीय अर्थव्यवस्था का प्रदर्शन आठ प्रतिशत की गिरावट के अनुमान से बेहतर रहेगा। वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि महामारी में गिरावट के रुख में ठकराव तथा टीकाकरण शुरू होने के बाद अब आर्थिक गतिविधियां रफ्तार पकड़ रही हैं। आर्थिक मामलों के विभाग ने अपनी मासिक रिपोर्ट में कहा कि विकसित देशों में कोविड-19 की नयी लहर और संक्रमण के नए प्रकार के बाद नए सिरे से लॉकडाउन लगाया गया है, जिससे वैश्विक उत्पादन में सुधार की रफ्तार कम हुई है।

इसे भी पढ़ें: कीरोन पोलार्ड का नहीं चल पाया जादू, श्रीलंका ने वेस्टइंडीज को 43 रनों से हराया

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में कोविड-19 संक्रमण के ग्राफ में गिरावट की रफ्तार में हल्के ठहराव के बाद भी गतिविधियों ने रफ्तार पकड़ी है और उपभोक्ताओं का सुधरता आत्मविश्वास नहीं डिगा है। टीकाकरण अभियान के बाद उपभोक्ताओं की धारणा सुधरी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि सामाजिक दूरी एक सामाजिक टीके की तरह है। भारत और दुनिया में तेजी से पुनरुद्धार के लिए इसपर लगातार ध्यान दिया जाना चाहिए। कोविड-19 टीके के विकास के बाद कई बार इसे नजरअंदाज किया जाता है। लेकिन कोविड-19 के टीके के साथ सामाजिक टीका भी जरूरी है।

इसे भी पढ़ें: महंगाई के खिलाफ देश एकजुट, सरकार को पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने होंगे: कांग्रेस

भारत हालांकि महामारी की दूसरी लहर से बचा हुआ है, लेकिन आठ राज्यों....महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, तमिलनाडु, गुजरात, मध्य प्रदेश, कर्नाटक और हरियाणा में संक्रमण के मामले बढ़े हैं। इससे एक बार फिर सामाजिक दूरी का महत्व सामने आया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में महामारी के बाद पहली बार सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर सकारात्मक हुई है। इससे धारणा बेहतर हुई है। ऐसे में चालू वित्त वर्ष के अंत तक गतिविधियां जीडीपी के दूसरे अग्रिम अनुमान के आकलन की तुलना में बेहतर रहेंगी। इसमें कहा गया है कि रिजर्व बैंक के तीसरी तिमाही के औद्योगिक परिदृश्य सर्वे से भी इस धारणा की पुष्टि होती है। रिपोर्ट में कहा गया है कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर सकारात्मक रहेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


भिवंडी का ‘पावरलूम फैक्टरी’ जलकर हुआ खाक, आग बुझाने का काम जारी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 6, 2021   11:07
  • Like
भिवंडी का ‘पावरलूम फैक्टरी’ जलकर हुआ खाक, आग बुझाने का काम जारी

महाराष्ट्र के भिवंडी में आग लगने से पावरलूम फैक्टरी जलकर राख हो गई।ठाणे नगर निगम के क्षेत्रीय आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ (आरडीएमसी) के प्रमुख संतोष कदम ने बताया कि सूचना मिलने पर भिवंडी निजामपुर सिटी नगर निगम की दो दमकल गाड़ियां मौके पर पहुंचीं।

ठाणे (महाराष्ट्र)। महाराष्ट्र के ठाणे जिले के भिवंडी शहर में शनिवार तड़के भीषण आग लगने से एक पावरलूम फैक्टरी जलकर खाक हो गई। एक अधिकारी ने इस बारे में बताया। उन्होंने बताया कि हादसे में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। ठाणे नगर निगम के क्षेत्रीय आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ (आरडीएमसी) के प्रमुख संतोष कदम ने बताया कि धमनकर नाका इलाके के सोनीबाई परिसर में स्थित फैक्टरी में तड़के करीब तीन बजे आग लगी। उन्होंने बताया कि सूचना मिलने पर भिवंडी निजामपुर सिटी नगर निगम की दो दमकल गाड़ियां मौके पर पहुंचीं।

इसे भी पढ़ें: फारूक अब्दुल्ला ने संपत्ति जब्त किए जाने के मामले में ईडी के आदेश को चुनौती दी

कदम ने बताया कि हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ है और आग बुझाने का काम जारी है। उन्होंने बताया कि आग लगने के कारणों के बारे में अभी पता नहीं चल पाया है। शुक्रवार को शहर के नयीगांव रोड पर स्थित एक अन्य पावरलूम फैक्टरी भी आग लगने से पूरी तरह खाक हो गई थी। भिवंडी पावरलूम उद्योग का बड़ा केंद्र है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


महंगाई के खिलाफ देश एकजुट, सरकार को पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने होंगे: कांग्रेस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 6, 2021   10:55
  • Like
महंगाई के खिलाफ देश एकजुट, सरकार को पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने होंगे: कांग्रेस

कांग्रेस ने पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर शुक्रवार को सरकार पर निशाना साधा और कहा कि महंगाई के खिलाफ पूरा देश एकजुट है और ऐसे में सरकार को पेट्रोलियम उत्पादों के दाम करने पड़ेंगे।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर शुक्रवार को सरकार पर निशाना साधा और कहा कि महंगाई के खिलाफ पूरा देश एकजुट है और ऐसे में सरकार को पेट्रोलियम उत्पादों के दाम करने पड़ेंगे। मुख्य विपक्षी पार्टी ने महंगाई के मुद्दे को लेकर शुक्रवार को ‘स्पीकअप अंगेस्ट प्राइज राइज (मूल्यवृद्धि के खिलाफ आवाज बुलंद करो)’ हैशटैग् से सोशल मीडिया अभियान भी चलाया।

इसे भी पढ़ें: भारत में कोरोना संक्रमण के 18,327 नए मामले, एक दिन में 108 लोगों की मौत

इस अभियान के तहत पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक वीडियो जारी कर दावा किया, ‘‘अंधी महंगाई 3 कारणों से असहनीय है- अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल के गिरते दाम, केंद्र सरकार के द्वारा टैक्स के नाम पर डकैती और इस डकैती से 2-3 उद्योगपतियों का मुनाफ़ा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘पूरा देश इसके ख़िलाफ़ एकजुट है- सरकार को सुनना ही होगा और पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने ही पड़ेंगे।’’ उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘महंगाई एक अभिशाप है। केंद्र सरकार सिर्फ़ टैक्स कमाने के लिए जनता को महंगाई के दलदल में धकेलती जा रही है। देश के विनाश के ख़िलाफ़ अपनी आवाज़ उठाइए।’’

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में शुक्रवार को 27 हजार से अधिक लोगों को कोविड-19 टीके लगाए गए

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने कांग्रेस के इस अभियान के तहत ट्वीट किया, ‘‘महंगाई बढ़ने पर भाजपा सरकार के बहाने: सर्दी के कारण दाम बढ़े, पिछली सरकारों का दोष, लोग कम यात्रा करे, इसलिए टिकट के दाम बढ़े और पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों पर हमारा नियंत्रण नहीं है। आमजन की परेशानी को किया दरकिनार, इस बार बहानों की बौछार।’’ कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने आरोप लगाया, ‘‘मोदी सरकार की ओर से उठाए गए हर कदम से आम लोगों की जेब खाली हुई है। देश के लोग इसे सहन नहीं करेंगे और अपनी आवाज उठाएंगे।’’ पार्टी के कई अन्य नेताओं ने भी इस अभियान के तहत सरकार पर निशाना साधा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept