अजीत जोगी के निधन पर छत्तीसगढ़ के राज्यपाल, मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष ने जताया शोक

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 29, 2020   17:58
अजीत जोगी के निधन पर छत्तीसगढ़ के राज्यपाल, मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष ने जताया शोक

राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि राज्यपाल उइके ने जोगी ने निधन पर दुख व्यक्त किया है। उइके ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन पर मुझे गहरा दुःख हुआ।

रायपुर। छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन पर राज्यपाल अनुसुईया उइके, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने शोक व्यक्त किया है। छत्तीसगढ़ सरकार ने जोगी के निधन पर तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने शुक्रवार को यहां बताया कि राज्यपाल उइके ने जोगी ने निधन पर दुख व्यक्त किया है। उइके ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन पर मुझे गहरा दुःख हुआ। मैं उनकी आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना करती हूं। उनकी मृत्यु से प्रदेश को अपूरणीय क्षति पहुंची है। मैं उनके परिवारजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करती हूं। 

इसे भी पढ़ें: नहीं रहे छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री अजीत जोगी, 74 साल की उम्र में ली अंतिम सांस 

अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जोगी के निधन पर गहरा दुःख प्रकट किया है। बघेल ने अपने शोक संदेश में कहा है कि जोगी का निधन छत्तीसगढ़ के लिए अपूरणीय क्षति है। उन्होंने राज्य के विकास में जोगी के योगदान का स्मरण करते हुए कहा कि राज्य बनने के बाद उन्होंने छत्तीसगढ़ के तीव्र विकास की रूपरेखा तैयार की और एक कुशल राजनीतिज्ञ और प्रशासक के रूप में राज्य को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। मुख्यमंत्री ने कहा है कि छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के बाद जोगी के नेतृत्व में बनी सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में कार्य करने का मौका मिला।

उन्होंने कहा कि जोगी ने छत्तीसगढ़ राज्य में गांव, गरीब और किसानों के कल्याण के लिए काम करने की दिशा निर्धारित की। उन्होंने बताया कि बघेल ने जोगी के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए उन्हें इस दुख की घड़ी को सहन करने की शक्ति प्रदान करने और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है। अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री बघेल ने जोगी के निधन पर राज्य में आज से तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है। इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और कोई भी शासकीय समारोह आयोजित नहीं किए जाएंगे। जोगी का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ 30 मई को गौरेला में होगा। 

इसे भी पढ़ें: जिलाधिकारी से मुख्यमंत्री की कुर्सी तक पहुंचने वाले पहले शख्स थे अजित जोगी 

विधानसभा में विपक्ष के नेता धरमलाल कौशिक ने भी जोगी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। कौशिक ने कहा है कि अजीत जोगी ने भारतीय राजनीति और सामाजिक जीवन के सर्वोच्च स्थान को प्राप्त किया था। हम सबके लिये बड़ी क्षति है। जिसकी भरपाई संभव नही है। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी की शुक्रवार को मृत्यु हो गई। वह लगभग 20 दिनों से अस्पताल में भर्ती थे। 74 वर्षीय जोगी ने आज दोपहर बाद 3.30 बजे अंतिम सांस ली।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।