भोपाल में बिना लाइसेंस के नहीं बेच सकेंगे चिकन मटन

भोपाल में बिना लाइसेंस के नहीं बेच सकेंगे चिकन मटन

मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि बिना लाइसेंस की भोपाल में लोग चिकन-मटन और मछली नहीं बेच पाएंगे। लाइसेंस लेने वाले दुकानदारों को ही मटन-चिकन बेचने की इजाजत दी जाएगी। इसके साथ ही अधिकारियों को सभी दुकानों के लाइसेंस चेक करने के निर्देश दे दिया गया है।

भोपाल। राजधानी भोपाल में अब लाइसेंस के बिना नहीं खोल सकेंगे चिकन-मटन और मछली की दुकाने। गुरुवार को चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने इसकी जानकारी दी। वहीं मंत्री ने भोपाल कलेक्टर को एक पत्र भी जारी किया है।

मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि बिना लाइसेंस की भोपाल में लोग चिकन-मटन और मछली नहीं बेच पाएंगे। लाइसेंस लेने वाले दुकानदारों को ही मटन-चिकन बेचने की इजाजत दी जाएगी। इसके साथ ही अधिकारियों को सभी दुकानों के लाइसेंस चेक करने के निर्देश दे दिया गया है। वहीं शहर में जगह-जगह लगने वाली मांस मछली की दुकानें एक निश्चित तय स्थान पर लगाने का आदेश दिया गया है। 

अब इस आदेश का विरोध भी शुरू हो गया है। मंत्री के बयान पर कांग्रेस ने पलटवार किया है। कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी मंत्रियों में कंपटीशन चल रहा है कौन ज्यादा उल जुलूल बयान देता है। एमपी सरकार के मंत्री काम कुछ करते नहीं है। सिर्फ बयानबाजी कर रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...