इंदौर में मुख्यमंत्री ने किया सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल का लोकार्पण, कहा कोरोना इलाज में मनमानी फीस लेने पर होगी कार्यवाही

इंदौर में मुख्यमंत्री ने किया सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल का लोकार्पण, कहा कोरोना इलाज में मनमानी फीस लेने पर होगी कार्यवाही

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं का तेजी से विस्तार किया जा रहा है। इसके लिये केन्द्र शासन का भी भरपूर सहयोग मिल रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संकल्प को पूरा करने की दिशा में हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं।

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना इलाज कहा है कि कोरोना इलाज में मनमानी फीस लेने पर प्रायवेट अस्पतालों के विरूद्ध कार्यवाही होगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना का नि:शुल्क इलाज कराया जा रहा है। आर्थिक रूप से सक्षम ऐसे लोग जो प्रायवेट अस्पतालों में अपना कोरोना का इलाज कराना चाहते हैं, इसके लिये प्रायवेट अस्पतालों को अनुमति दी गई है। अगर कोई अस्पताल मनमानी फीस एवं चार्ज ले रहे हैं तो उनके विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने युक्तिसंगत फीस निर्धारण के लिये जिला प्रशासन को बैठक लेकर आगामी कार्यवाही करने के निर्देश दिये। यह बात मुख्यमंत्री ने इंदौर में सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पीटल के लोकार्पण के मौके पर कही। 

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में त्रिकोणी मुकाबले के लिए बीएसपी तैयार, 8 सीटों पर घोषित किए प्रत्याशी

मुख्यमंत्री शिवराजसिं ह चौहान ने शुक्रवार को चिकित्सा के क्षेत्र में मध्य प्रदेश को एक बड़ी सौगात दी है। उन्होंने इंदौर में 237 करोड़ रूपये से अधिक की लागत से निर्मित आधुनिक चिकित्सा सुविधाओं से युक्त सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल का लोकार्पण किया। यह अस्पताल 10 मंजिला है और इसमें अत्याधुनिक चिकित्सा सुविधाएं रहेंगी। कार्यक्रम में केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन तथा केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे नई दिल्ली से तथा चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग भोपाल से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से कार्यक्रम में शामिल हुये। कार्यक्रम में पूर्व मंत्री कैलाश विजयवर्गीय, जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, पर्यटन मंत्री सुश्री उषा ठाकुर तथा सांसद शंकर लालवानी विशेष रूप से मौजूद थे। नवनिर्मित इस अस्पताल में न्यूरोलॉजी, न्यूरोसर्जरी,  नेफ्रोलॉजी, यूरोसर्जरी,  कार्डियोलॉजी, कार्डियेक सर्जरी,  मेडिकल गेस्ट्रोएन्ट्रोलॉजी, सर्जीकल गेस्ट्रोएन्ट्रोलॉजी, प्लास्टिक एवं रिकन्सट्रक्टीव सर्जरी तथा आर्गन ट्रान्सप्लांट की सुविधा रहेगी। यह अस्पताल 402 बिस्तरों का है। इसमें मुख्य रूप से जनरल वार्ड में 208 बिस्तर रहेंगे। शेष बिस्तर आईसीयू, आपातकालीन, प्रायवेट एवं सेमी प्रायवेट आदि वार्ड में भी रहेंगे।

इसे भी पढ़ें: किसान कर्जमाफी की पेनड्राइव दिखाकर कमलनाथ ने कहा यह चुनाव मध्य प्रदेश के भविष्य का चुनाव है

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं का तेजी से विस्तार किया जा रहा है। इसके लिये केन्द्र शासन का भी भरपूर सहयोग मिल रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संकल्प को पूरा करने की दिशा में हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोविड से निपटने के लिये सभी संभव प्रयास किये जा रहे हैं। जिस दिन से मैंने मुख्यमंत्री का पुन: पद संभाला, उसी दिन से मैंने कोरोना से निपटने के प्रयास शुरू कर दिये। इसके पहले न तो कोई तैयारी और न ही कोई व्यवस्था थी। कोरोना की अनदेखी की जा रही थी। पद संभालते ही स्थिति की समीक्षा की गई और कोरोना से निपटने के लिये प्रभावी कदम उठाये गये। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।