भारत में एक बार वापिस लौट रहे चाइनीज ऐप

Chinese app returning in india once again
पिछले साल भारत सरकार ने चीन के खिलाफ बड़ी कार्यवाही करते हुए पहले प्रयास में 59 चाइनीज मोबाइल एप्स को बैन कर दिया था, अब तक चीन की कुल 106 मोबाइल एप्स को देश की संप्रभुता,एकता और सुरक्षा के लिए नुकसानदेह बताते हुए रोक लगाए गए थेे।

पिछले साल भारत सरकार ने चीन के खिलाफ बड़ी कार्यवाही करते हुए पहले प्रयास में 59 चाइनीज मोबाइल एप्स को बैन कर दिया था, अब तक चीन की कुल 106 मोबाइल एप्स को देश की संप्रभुता,एकता और सुरक्षा के लिए नुकसानदेह बताते हुए रोक लगाए गए थेे।

कुल 267 चाइनीज ऐप को बैन कर दिया गया था भारत ने आईटी एक्ट के सेक्शन 69A के तहत चाइना के267 चाइनीज एप्सज भारत के लिए खतरा बताते हुए बैन कर दिया था । इन एप्स के बारे में बात करें तो इनमें लोकप्रिय चल रही टिकटोक, यूसी ब्राउजर ,क्लैश ऑफ़ किंग्स, लाईकी आदि शामिल थे।

अभी हाल ही में पाया गया है कि कुछ चाइनीस कंपनियां अपना चाइनीज कंपनी होने का दावा करने से मुकरने के साथ-साथ नए नामों के साथ मार्केट में नजर आ रही हैं । भारत में में यूज होने वाला टॉप 60 में से लगभग आठ एप्स चाइना द्वारा ऑपरेट की जाती हैं, और लगातार इनके यूजर्स की संख्या में 211 मिलियन की बढ़ोतरी देखने को मिली है।

 सबसे तेजी से बढ़ने वाला चीनी ऐप(playit) भारत में सबसे तेजी से बढ़ रहा है। पायरेसी को बढ़ावा देकर यह ऐप तेजी से विकसित हुआ है। इसके माध्यम से उपयोगकर्ता टेलीग्राम के माध्यम से फिल्म की पायरेटेड प्रतियां डाउनलोड करने में सक्षम हैं।

हालांकि सरकारी अधिकारियों ने इन नए एप्स को लेकर कहा कि नए एप्स पर कोई कार्यवाही तभी की जाएगी जब सुरक्षा एजेंसियां पिछले साल की तरह ही इनके कामकाज को लेकर लाल झंडी दिखा देंगी।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़