अर्नब गोस्वामी पर आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले की होगी CID जांच

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 27, 2020   10:13
अर्नब गोस्वामी पर आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले की होगी CID जांच

राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक की बेटी आज्ञा नाइक ने दावा किया था कि रायगढ़ जिले में अलीबाग पुलिस ने बकाया राशि न दिए जाने के मामले की जांच नहीं की थी इसलिए अन्वय और उनकी मां को आत्महत्या का कदम उठाना पड़ा।

मुंबई। टेलीविजन पत्रकार अर्नब गोस्वामी और दो अन्य द्वारा कथित रूप से बकाया राशि न देने पर 53 वर्षीय एक इंटीरियर डिजाइनर और उसकी मां के आत्महत्या करने के मामले की सीआईडी द्वारा पुनः जांच करने का आदेश महाराष्ट्र सरकार ने मंगलवार को दिया। राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक की बेटी आज्ञा नाइक ने दावा किया था कि रायगढ़ जिले में अलीबाग पुलिस ने बकाया राशि न दिए जाने के मामले की जांच नहीं की थी इसलिए अन्वय और उनकी मां को आत्महत्या का कदम उठाना पड़ा। 

इसे भी पढ़ें: भारत के सबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री थे राजीव गांधी

देशमुख ने ट्वीट किया, “आज्ञा नाइक ने मुझसे शिकायत की थी कि अर्नब गोस्वामी के रिपब्लिक द्वारा बकाया राशि न दिए जाने के कारण उनके पिता और दादी ने मई 2018 में आत्महत्या कर ली थी और अलीबाग पुलिस ने इसकी जांच नहीं की थी।” राकांपा नेता देशमुख ने कहा, “मैंने इस मामले की जांच सीआईडी से कराने का आदेश दिया है।” इस महीने की शुरुआत में रिपब्लिक टीवी और दो अन्य के विरुद्ध आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया गया था। कथित तौर पर अन्वय नाइक द्वारा लिखे गए सुसाइड नोट में कहा गया था कि आरोपियों ने उनके 5.40 करोड़ रुपये का भुगतान नहीं किया था इसलिए उन्हें आत्महत्या का कदम उठाना पड़ा। रिपब्लिक टीवी ने आरोपों को खारिज कर दिया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।