सीएम सोरेन ने पीएम को दिया धन्यवाद, बोले- प्रवासी मजदूरों और छात्रों को वापस लाने के लिए चाहिए केंद्र की मदद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 30, 2020   07:15
सीएम सोरेन ने पीएम को दिया धन्यवाद, बोले- प्रवासी मजदूरों और छात्रों को वापस लाने के लिए चाहिए केंद्र की मदद

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आज यहां मीडिया से बातचीत करते हुए प्रवासी मजदूरों, पर्यटकों एवं छात्रों के एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने को लेकर केन्द्र सरकार द्वारा दी गयी छूट का स्वागत किया और इसके लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया लेकिन कहा कि इस बड़े काम के लिए राज्य को केन्द्र सरकार के मदद की आवश्यकता होगी।

रांची। कोरोना वायरस की वजह से लागू लॉकडाउन के कारण देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रदेश के पांच लाख से अधिक प्रवासी कामगारों और हजारों छात्रों को यहां वापस लाने के लिये मुख्यमंत्री ने अधिकारियों का एक दल गठित किया है जो इस संबंध में कार्य योजना तैयार करेगा और कहा कि इस काम के लिये केंद्र सरकार की मदद की जरूरत होगी। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आज यहां मीडिया से बातचीत करते हुए प्रवासी मजदूरों, पर्यटकों एवं छात्रों के एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने को लेकर केन्द्र सरकार द्वारा दी गयी छूट का स्वागत किया और इसके लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया लेकिन कहा कि इस बड़े काम के लिए राज्य को केन्द्र सरकार के मदद की आवश्यकता होगी। 

इसे भी पढ़ें: इरफान के निधन पर हेमन्त सोरेन ने जताया दुख, कहा- हमने खो दिया असाधारण अभिनेता

उन्होंने यह अवश्य कहा कि सभी फंसे लोगों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए एक कार्ययोजना बनाने के लिये आज ही उन्होंने अधिकारियों की एक टीम का गठन कर दिया है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि इस संबन्ध में केन्द्रीय गृह मंत्रालय के दिशा निर्देश आज शाम को ही आये हैं और अब राज्य सरकार दूसरे राज्यों में यहां के फंसे लोगों को राहत पहुंचाने के लिए आवश्यक तैयारी प्रारंभ कर दी है। उन्होंने कहा कि आज ही उनकी केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल और केन्द्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से भी बातचीत हुई है। 

इसे भी पढ़ें: झारखंड में कोरोना के बढ़ते मामलों के लिए स्वास्थ्य मंत्री ने तबलीगी जमात को बताया जिम्मेदार

उन्हें हमने बताया है कि राज्य सरकार यहां के लाखों लोगों को स्वयं वापस लाने में सक्षम नहीं है। सोरेन ने कहा, ‘‘यदि राज्य सरकार अपने संसाधनों से इन फंसे हुए लाखों लोगों को राज्य में वापस लाने का प्रयास करेगी तो इस काम में उसे छह महीने लग जायेंगे क्योंकि राज्य के पास अपना परिवहन निगम तक नहीं है।’’ उन्होंने कहा कि अभी सोमवार को ही उन्होंने प्रधानमंत्री से प्रवासी लोगों को राज्य में वापस लाने के लिए छूट देने का आग्रह किया था और दो दिनों में इस बारे में फैसला लिया गया जिसका वह स्वागत करते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।