अनुच्छेद 370 पर मोदी सरकार के फैसले से आम आदमी खुश: जितेंद्र सिंह

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 20, 2019   19:16
अनुच्छेद 370 पर मोदी सरकार के फैसले से आम आदमी खुश: जितेंद्र सिंह

पाकिस्तानी मंत्रियों द्वारा भारत को युद्ध की धमकी दिए जाने के बारे में पूछे जाने पर मंत्री ने कहा कि पूरी दुनिया जानती है कि भारत के साथ ऐसी कोई हरकत करने का क्या मतलब है और आज नयी दिल्ली की क्या सैन्य तथा कूटनीतिक सर्वोच्चता है।

मुंबई। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने शुक्रवार को कहा कि जम्मू कश्मीर को अनुच्छेद 370 के तहत मिला विशेष दर्जा समाप्त करने के केंद्र के कदम से श्रीनगर में आम आदमी ‘‘दिल से खुश’’ है। राज्य को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को समाप्त करने के फैसले का मजबूती से बचाव करते हुए उन्होंने यहां कहा कि कश्मीर के लोग छह महीने के भीतर कहेंगे कि राज्य में जो हुआ, वह उनके सर्वश्रेष्ठ हित में हैं। उन्होंने कहा कि पांच अगस्त के फैसले के बाद राज्य में एहतितायी कदम उठाने में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ‘‘बहुत ही उदार और दयालु’’ रहे हैं।

प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री ने इस बात को नकारा कि समूचे सीमावर्ती राज्य में प्रतिबंध लगे हुए हैं। पाकिस्तानी मंत्रियों द्वारा भारत को युद्ध की धमकी दिए जाने के बारे में पूछे जाने पर मंत्री ने कहा कि पूरी दुनिया जानती है कि भारत के साथ ऐसी कोई हरकत करने का क्या मतलब है और आज नयी दिल्ली की क्या सैन्य तथा कूटनीतिक सर्वोच्चता है। सिंह ने कहा, ‘‘मैं पूरे विश्वास के साथ कह सकता हूं कि छह महीने के भीतर लोगों को आप यह कहते हुए देखेंगे कि जो भी हुआ है, उनके हित में हुआ है।’’ वह यहां आयोजित ‘इंडिया टुडे कांक्लेव’ में बोल रहे थे।

इसे भी पढ़ें: अकबरुद्दीन ने की पाक की बेइज्जती, कहा- वह जितना नीचे झुकेगा, हम उतना ऊंचा उठेंगे

सिंह ने कहा कि संबंधित अनुच्छेद के प्रावधानों को खत्म करने से केवल उन लोगों को ‘‘हताशा और निराशा’’ हुई है जो ‘‘खालीपन की स्थिति में महज 10 प्रतिशत मतदान के बलबूते फल-फूल रहे थे जिसने उन्हें उनके वंशवादी प्रभुत्व को तीन दशक तक आगे बढ़ाने में सक्षम बना दिया।’’ उन्होंने हालांकि किसी का नाम नहीं लिया। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कश्मीर में केवल गुंडागर्दी या उन बयानों पर प्रतिबंध है जो माहौल खराब कर सकते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।