भारत की मिली-जुली संस्कृति के खिलाफ सांप्रदायिक साजिश कामयाब नहीं होगी: नकवी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 3, 2022   14:00
भारत की मिली-जुली संस्कृति के खिलाफ सांप्रदायिक साजिश कामयाब नहीं होगी: नकवी

एक ऐप के जरिए मुस्लिम महिलाओं को निशाना बनाने को लेकर मचे बवाल के बीच भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि देश की मिली-जुली संस्कृति के खिलाफ कोई भी ‘साइबर आपराधिक सांप्रदायिक साजिश कामयाब नहीं होगी।’

नयी दिल्ली। एक ऐप के जरिए मुस्लिम महिलाओं को निशाना बनाने को लेकर मचे बवाल के बीच भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि देश की मिली-जुली संस्कृति के खिलाफ कोई भी ‘साइबर आपराधिक सांप्रदायिक साजिश कामयाब नहीं होगी।’ पत्रकारों से बातचीत करते हुए केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने कहा कि सरकार मामले में कार्रवाई कर रही है और महिलाओं को निशाना बनाना अस्वीकार्य है।

इसे भी पढ़ें: वैक्सीन की कमी न पड़े, इसलिए उठाए जा रहे कदम, कोवैक्सीन की एक्सपायरी 6 महीने से बढ़ाकर 12 महीने हुई, स्टॉक को किया जाएगा री-लेबल

उन्होंने कहा कि अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है और उनकी ‘सांप्रदायिक साजिश’ का जल्द भांडाफोड़ किया जाएगा। कम से कम सौ प्रभावशाली मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें ‘बुली बाई’ ऐप पर ‘नीलामी’ के लिए अपलोड किए जाने पर मचे बवाल के बाद सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने शनिवार को कहा था कि मेजबान मंच ‘गिटहब’ ने उपयोगकर्ता (यूजर) को ब्लॉक करने की पुष्टि की है तथा कम्प्यूटर आपदा प्रतिक्रिया दल (सीईआरटी) और पुलिस अधिकारी आगे की कार्रवाई के लिए समन्वय कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: South Africa vs India | विराट कोहली दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में नहीं खेलेंगे, के एल राहुल ने संभाली टीम की कमान

नकवी ने कहा कि नापाक मंसूबें रखने वाले कुछ लोग भारत को बदनाम करने की साजिश में शामिल हैं लेकिन देश ऐसे तत्वों को कभी उनके बुरे कृत्यों में कामयाब नहीं होने देगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।