चिंतन शिविर में एक परिवार एक टिकट पर मंथन, कांग्रेस नेताओं ने बताई कार्ययोजना तो खड़गे ने साधा PM मोदी पर निशाना

चिंतन शिविर में एक परिवार एक टिकट पर मंथन, कांग्रेस नेताओं ने बताई कार्ययोजना तो खड़गे ने साधा PM मोदी पर निशाना
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि कहीं न कहीं हमारे प्रचार में कमियां हैं, हमने बहुत काम किए हैं, उसका फल हमें नहीं मिल रहा। उसका फल कोई और खा रहा है और वे लोग बोल रहे हैं हम असल देशभक्त हैं। अगर आप असल देशभक्त हैं तो आप भारत छोड़ो आंदोलन के वक़्त कहां थे। उन्होंने कहा कि गांधी जी ने पदयात्रा निकाली तब आप कहां थे ?

उदयपुर। कांग्रेस का तीन दिवसीय चिंतन शिविर उदयपुर में शुरू हो चुका है। इसी बीच कांग्रेस नेताओं के बयान सामने आए। जिसमें उन्होंने पार्टी की कमियों को स्वीकार किया और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधा। पार्टी के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि मुझे समझ में नहीं आता कि मोदी जी कभी प्रेस के सामने क्यों नहीं आते ? यह महत्वपूर्ण है कि हम अपने लोकतंत्र, संविधान को बचाएं... वे असहमति को दबाने की कोशिश करते हैं। 

इसे भी पढ़ें: दिवसीय चिंतन शिविर में 6 मुद्दों पर होगा मंथन, क्या उदयपुर में होगा कांग्रेस का उदय ? 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि कहीं न कहीं हमारे प्रचार में कमियां हैं, हमने बहुत काम किए हैं, उसका फल हमें नहीं मिल रहा। उसका फल कोई और खा रहा है और वे लोग बोल रहे हैं हम असल देशभक्त हैं। अगर आप असल देशभक्त हैं तो आप भारत छोड़ो आंदोलन के वक़्त कहां थे। उन्होंने कहा कि गांधी जी ने पदयात्रा निकाली तब आप कहां थे ? देश के लिए लाखों लोग जेल में गए और कुर्बानी दी तब आप कहां थे ?

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि मुझे समझ में नहीं आता कि मोदी जी कभी प्रेस के सामने क्यों नहीं आते... यह महत्वपूर्ण है कि हम अपने लोकतंत्र, संविधान को बचाएं... वे असहमति को दबाने की कोशिश करते हैं। हमें अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की रक्षा करने की आवश्यकता है।

पदों के लिए बनाए जा रहे नियम

कांग्रेस नेता अजय माकन ने बताया कि कोई भी व्यक्ति जो 5 साल से किसी पद पर है उसे पद छोड़ना होगा और उस व्यक्ति को उसी पद पर वापस आने के लिए कम से कम 3 साल की कूलिंग अवधि होनी चाहिए। 5 साल से अधिक एक व्यक्ति एक ही पद पर नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि इस प्रस्ताव पर पैनल के सदस्यों के बीच लगभग पूरी तरह से एकमती बन गई है। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस के चिंतन शिविर में शामिल होने के लिए उदयपुर रवाना हुए राहुल गांधी, स्टेशन पर कुलियों से की मुलाकात 

इसी बीच गौरव गोगोई ने कहा कि चिंतन शिविर को लेकर कई बार चर्चा हो चुकी है। कुछ विषयों पर सहमति बन गई है। उन्हें औपचारिक रूप से 3 दिवसीय शिविर में लिया जाएगा और संकल्प में पेश किया जाएगा। एक परिवार-एक टिकट कुछ ऐसा है जिसे हम सभी दृढ़ता से महसूस करते हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।