संगठन को मजबूत करने की जुगत में लगी कांग्रेस, UP जिला समितियां भंग

By अनुराग गुप्ता | Publish Date: Jun 25 2019 1:46PM
संगठन को मजबूत करने की जुगत में लगी कांग्रेस, UP जिला समितियां भंग
Image Source: Google

समितियां भंग करने के बाद अब कांग्रेस ने विधायक दल के नेता अजय कुमार लल्लू को पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया और नए सिरे से संगठन में बदलाव करने की जिम्मेदारी सौंपी।

लखनऊ। लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद कांग्रेस पार्टी अब अपने संगठन को नए सिरे से खड़ा करने की जुगत में लग गई है। जिसके बाद पार्टी ने कर्नाटक के बाद अब उत्तर प्रदेश की सभी जिला समितियों को भंग कर दिया है। इसी को लेकर कांग्रेस के संगठन प्रभारी केसी वेणुगोपाल ने एक बयान जारी किया और कहा कि उत्तर प्रदेश के पूर्वी प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और पश्चिम के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिधिंया के सुझाव के बाद ऐसा किया गया।

इसे भी पढ़ें: सिंधिया UP में हार की समीक्षा कैसे करें, बड़े नेता बैठकों में आ नहीं रहे

समितियां भंग करने के बाद अब कांग्रेस ने विधायक दल के नेता अजय कुमार लल्लू को पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया और नए सिरे से संगठन में बदलाव करने की जिम्मेदारी सौंपी। हालांकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी का नाम जल्द ही घोषित किया जा सकता है। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के दरमियान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने कार्यकर्ताओं से कहा था कि हमारा लक्ष्य उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने का होना चाहिए। 



इसे भी पढ़ें: प्रजा ने राजा को दिखाया ऐसा दिन कि खाली करना पड़ेगा 33 साल पुराना बंगला

हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन बेहद शर्मनाक रहा। प्रदेश में कांग्रेस महज एक ही सीट जीत पाने में कामयाब हो पाई। इतना ही नहीं कांग्रेस ने अपने गढ़ अमेठी को भी गंवा दिया, जिसके बाद अब पार्टी संगठन को नए सिरे से खड़ा करने की जुगत में लग गई है। हालांकि चुनाव में मिली हार के बाद जब ज्योतिरादित्य सिंधिया ने हार की समीक्षा की तो कार्यकर्ताओं द्वारा पता चला कि कभी भी प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर पार्टी मुख्यालय में बैठते ही नहीं हैं। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video