जम्मू में कांग्रेस के G-23 नेताओं का जमावड़ा, कर सकते हैं बड़ा ऐलान!

Congress
अभिनय आकाश । Feb 27, 2021 2:07PM
जम्मू में जैसे ही कांग्रेस के इन दिग्गजों का जमावड़ा शुरू हुआ तो खबरें आने लगी की ये नेता जम्मू में कुछ बड़ा धमाका कर सकते हैं। ये सभी नेता कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जनक राज गुप्ता की श्रद्धांजलि सभा के लिए जमा हुए हैं। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष के पद से रिटायर होने के बाद आजाद शुक्रवार को जम्मू पहुंचे।

कांग्रेस में कलह की तस्वीर और बढ़ती नजर आ रही है। कांग्रेस के कुछ असंतुष्ट नेता आज कुछ बड़ा ऐलान कर सकते हैं। गुलाम नबी आजाद, भूपेंद्र सिंह हुड्डा, आनंद शर्मा, कपिल सिब्बल, राज बब्बर जम्मू पहुंचे हैं। आज किसी बड़े ऐलान की संभावना जताई जा रही। संभावना जताई जा रही है कि ये असंतुष्टी कांग्रेस के भीतर कलह को किस तरह से और सामने रख सकती है। 

पांच राज्यों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर ये बोले आजाद

जम्मू में जैसे ही कांग्रेस के इन दिग्गजों का जमावड़ा शुरू हुआ तो खबरें आने लगी की ये नेता जम्मू में कुछ बड़ा धमाका कर सकते हैं। ये सभी नेता कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ‘शांति सम्मेलन’ के लिए जमा हुए हैं। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष के पद से रिटायर होने के बाद आजाद शुक्रवार को जम्मू पहुंचे। यहां उनके स्वागत में भारी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता उमड़े। इस दौरान जब आजाद से पांच राज्यों में कांग्रेस के प्रदर्शन की संभावना पर पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अभी हम ये कैसे कह सकते हैं लेकिन कांग्रेस पार्टी का पूरा प्रयास होगा कि पांच राज्यों में हम चुनाव लड़ेंगे और अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

इसे भी पढ़ें: पाक ने फिर अलापा कश्मीर का राग ! कहा- भारत के साथ सभी मुद्दों पर चाहते हैं शांतिपूर्ण समाधान

जी-23 और गांधी परिवार  

अगस्त 2020 में कांग्रेस के 23  नेताओं ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी थी। 

सोनिया गांधी से संगठन में बदलाव की मांग की थी। 

दिसंबर 2020 में चिट्ठी लिखने वाले कुछ नेताओं से सोनिया गांधी ने मुलाकात की थी। 

फरवरी 2021 में कांग्रेस नेताओं ने फिर सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी और संगठन में बदलाव की मांग की। 

कांग्रेस के नेताओं ने कुछ बड़ी शर्तें भी रखी।   

जम्मू में असंतुष्ट धड़े का जमावड़ा

कांग्रेस के अंसतुष्ट नेताओं के समूह को जी-23 के नाम से भी जाना जाता है जिन्होंने कांग्रेस के नेतृत्व को लेकर सवाल खड़े किए थे और सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी थी। इन नेताओं में गुलाम नबी आजाद, कपिल सिब्बल, मनीष तिवारी, भूपेंद्र सिंह हुड्डा, पृथ्वीराज चव्हाण, विवेक तन्खा और राज बब्बर जैसे नेता शामिल हैं। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद समेत हरियाणा, पंजाब, हिमाचल औऱ मध्य प्रदेश के आधा दर्जन से अधिक दिग्गज कांगेस नेताओं का जमावड़ा बीती शुक्रवार से ही जम्मू में है। 

गौर करने वाली बात ये है कि कांग्रेस के इन दिग्गज नेताओं का जमावड़ा ऐसे वक्त में हुआ है जब दक्षिण में राहुल गांधी पार्टी की जड़े मजबूत करने की कवायद में लगे हैं। जिसके बाद से जी-23 नेताओं के जम्मू में जमावड़े को लेकर कई मायने निकाले जा रहे हैं। माना जा रहे हैं कि ये नेता जम्मू से राहुल गांधी के बयान पर कोई बड़ा संदेश दे सकते हैं जिसमें उन्होंने उत्तर भारत की राजनीति को दक्षिण भारत की राजनीति से अलग बताया था। 

अन्य न्यूज़