3 कृषि कानूनों की वापसी पर कांग्रेस मना रहा है किसान विजय दिवस

3 कृषि कानूनों की वापसी पर कांग्रेस मना रहा है किसान विजय दिवस

केंद्र ने आम जनता को राहत देते हुए पेट्रोल-डीजल के दामों से एक्साइज ड्यूटी कम कर दी। वहीं शुक्रवार को केंद्र सरकार की ओर से तीनों कृषि कानून वापस ले लिए।

भोपाल। भारत की केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानून वापस लेने की घोषणा बाद कांग्रेस ने किसान आंदोलन के मुद्दे पर अपनी रणनीति बदलते हुए शनिवार को देशभर में किसान विजय दिवस मनाने और विजय रैली के आयोजित करने का फैसला किया है।

इसे भी पढ़ें:कृषि कानून वापसी को लेकर शिवसेना का तंज, कहा- बैल कितना भी अड़ियल हो, किसान खेत जुतवा ही लेता है 

दरअसल पेट्रोल-डीजल के दामों के रोलबैक के बाद ये दूसरा बड़ा फैसला है जो केंद्र सरकार ने जनता के विरोध के बाद लिया है। अब मंहगाई समते सभी मुद्दों को कांग्रेस भुनाने की पूरी तैयारी में है। इसी कड़ी में कांग्रेस के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल ने शुक्रवार को सभी राज्यों को पत्र लिखकर कहा है कि तीनों कृषि कानूनों की वापसी के बाद देशभर में शनिवार को कांग्रेस पार्टी की ओर से किसान विजय दिवस मनाया जाए। 

बताया जा रहा है कि तीनों कानून केंद्र सरकार द्वारा वापस लेने का जश्न जन-जन तक पहुंचाया जाए। इसके साथ ही किसान विजय रैली का आयोजन किया जाए। कांग्रेस का सभी प्रदेश अध्यक्षों को किसान विजय दिवस मनाने के लिये जिले स्तर से- ब्लॉक स्तर तक कार्यकर्ता को ये निर्देश दिया गया है।

इसे भी पढ़ें:गहलोत के साथ पायलट की दूरियां समाप्त करने के लिए मंत्रिमंडल का गणित तैयार, शाम तक हो सकते हैं और भी इस्तीफे 

आपको बता दें कि केंद्र ने आम जनता को राहत देते हुए पेट्रोल-डीजल के दामों से एक्साइज ड्यूटी कम कर दी। वहीं शुक्रवार को केंद्र सरकार की ओर से तीनों कृषि कानून वापस ले लिए। केंद्र द्वारा लिए गये इन फैसलों के बाद कांग्रेस पार्टी ने अपनी जनजागरण अभियान की रणनीति में बदलाव किया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।