AAP के साथ गठबंधन को लेकर कांग्रेस अब भी कर रही है विचार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 19, 2019   13:04
AAP के साथ गठबंधन को लेकर कांग्रेस अब भी कर रही है विचार

कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी पी सी चाको ने कहा कि आप के साथ गठबंधन की संभावनाओं को लेकर मैं दिल्ली में कांग्रेस नेताओं से विचार-विमर्श कर रहा हूं।

नयी दिल्ली। दिल्ली में अकेले चुनाव लड़ने के सर्वसम्मत फैसले के कुछ दिन बाद कांग्रेस लोकसभा चुनाव में भाजपा को हराने के प्रयास के तहत यहां आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन करने पर फिर से विचार कर रही है। सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस नेतृत्व आप नेताओं से बात कर रहा है और पार्टी के वरिष्ठ नेता अरविन्द केजरीवाल नीत आप के साथ गठबंधन के लिए दिल्ली कांग्रेस के नेताओं को मनाने की कोशिशों में लगे हैं। कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी पी सी चाको ने कहा, ‘आप के साथ गठबंधन की संभावनाओं को लेकर मैं दिल्ली में कांग्रेस नेताओं से विचार-विमर्श कर रहा हूं।’

इसे भी पढ़ें: शीला दीक्षित की राहुल से गुजारिश, दीर्घकाल में कांग्रेस को AAP से होगा नुकसान

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस कार्य समिति ने देशभर में समान विचारधारा वाले दलों से गठबंधन करने का फैसला किया है। चाको ने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि दिल्ली कांग्रेस के नेता भी इस भावना को समझेंगे और आप के साथ गठबंधन का फैसला करेंगे। लेकिन अंतिम फैसला जल्द ही कांग्रेस अध्यक्ष लेंगे। मुद्दे पर दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित और चाको के विचार अलग-अलग हैं।दीक्षित स्पष्ट कर चुकी हैं कि राष्ट्रीय राजधानी में बाद में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आप के साथ गठबंधन करना पार्टी के हित में नहीं होगा।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने बहुत देर कर दी, AAP बोली- अब गठबंधन की गुंजाइश खत्म

चाको ने कहा कि दिल्ली में कुछ वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं को लगता है किभाजपा को हराना पार्टी की तात्कालिक आवश्यकता है और इसके लिए आप के साथ गठबंधन किया जाना चाहिए। इन नेताओं ने मुद्दे पर राहुल गांधी को लिखा है। उन्होंने कहा कि गांधी पार्टी में विचार-विमर्श के बाद जल्द ही अंतिम फैसला करेंगे। चाको ने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि दिल्ली के हमारे नेताओं को भी कांग्रेस कार्य समिति की नीति का पालन करना चाहिए। मैं उनसे बात कर रहा हूं और इस बारे में उन्हें मनाने की कोशिश कर रहा हूं, लेकिन अगर वे अब भी गठबंधन का फैसला नहीं करते तो यह उन पर निर्भर है। दिल्ली में लोकसभा चुनाव 12 मई को होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।