कांग्रेस ने पंजाब के नए एजी के भाई को अपनी प्रदेश इकाई का विधि प्रमुख बनाया

law
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
बिपन घई को जहां प्रदेश कांग्रेस के कानूनी, मानवाधिकार और आरटीआई विभाग का अध्यक्ष बनाया गया है, वहीं कांग्रेस ने विभाग में एक उपाध्यक्ष, दो महासचिव, चार सचिव और एक प्रवक्ता भी नियुक्त किया है।

चंडीगढ़, 1 अगस्त।  विनोद घई के पंजाब के महाधिवक्ता (एजी) के रूप में कार्यभार संभालने के एक दिन बाद कांग्रेस ने रविवार को उनके भाई बिपन घई को अपनी राज्य इकाई के कानूनी, मानवाधिकार और आरटीआई विभाग का अध्यक्ष नियुक्त किया। पंजाब में आम आदमी पार्टी (आप) के नेतृत्व वाली सरकार ने अनमोल रतन सिद्धू के महाधिवक्ता पद से इस्तीफा देने के बाद विनोद घई को एजी बनाया था। घई ने शनिवार को अपना पदभार संभाला था।

बिपन घई को जहां प्रदेश कांग्रेस के कानूनी, मानवाधिकार और आरटीआई विभाग का अध्यक्ष बनाया गया है, वहीं कांग्रेस ने विभाग में एक उपाध्यक्ष, दो महासचिव, चार सचिव और एक प्रवक्ता भी नियुक्त किया है। पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वडिंग ने कहा, “मुझे अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) द्वारा अनुमोदित कानूनी, मानवाधिकार और आरटीआई विभाग के पदाधिकारियों के नामों की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है।”

उन्होंने बाद में ट्वीट किया, “एआईसीसी द्वारा अनुमोदित पंजाब कांग्रेस के विधि एवं सूचना का अधिकार विभाग के नवनियुक्त पदाधिकारियों को बधाई। प्रख्यात वकीलों की टीम को मेरी शुभकामनाएं। मुझे विश्वास है कि आप संगठन के हित में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़