• राष्ट्रपति से कांग्रेस का आग्रह, मणिपुर की राज्यपाल से कर्तव्य का निर्वहन सुनिश्चित कराएं

कांग्रेस ने बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से आग्रह किया कि मणिपुर में 12 विधायकों को अयोग्य ठहराए जाने की उसकी मांग से जुड़े विषय में प्रदेश की राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला से संवैधानिक कर्तव्य का निर्वहन सुनिश्चित करवाएं या फिर उनको वापस बुलाएं।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से आग्रह किया कि मणिपुर में 12 विधायकों को अयोग्य ठहराए जाने की उसकी मांग से जुड़े विषय में प्रदेश की राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला से संवैधानिक कर्तव्य का निर्वहन सुनिश्चित करवाएं या फिर उनको वापस बुलाएं। पार्टी के मणिपुर प्रभारी भक्त चरण दास की अगुवाई में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति से मुलाकात की और अपनी मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा। राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद दास ने कहा कि उच्च न्यायालय ने 12 विधायकों को अयोग्य ठहराने के संदर्भ में आदेश दिया था और इसके बाद चुनाव आयोग ने अपनी राय राज्यपाल के पास भेज दी।

इसे भी पढ़ें: मंदबुद्धि महिला से सामूहिक दुष्कर्म, तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

लेकिन राज्य की तरफ से पिछले कई महीनों से कोई निर्णय नहीं हो रहा है। उन्होंने दावा किया, ‘‘राज्यपाल हमारे विधायकों से मुलाकात नहीं करती हैं। वह अपनी भूमिका का सही से निर्वहन नहीं कर रही हैं।’’ कांग्रेस ने राष्ट्रपति के समक्ष जो ज्ञापन सौंपा है उसमें आग्रह किया गया है कि विषय में प्रदेश की राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला से संवैधानिक कर्तव्य का निर्वहन सुनिश्चित करवाएं या फिर उनको वापस बुलाया जाए।

इसे भी पढ़ें: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राज्यसभा में कहा- भारत की निवेश ग्रेड रेटिंग घटने के आसार नहीं

गौरतलब है कि जिन दो कानूनों के आधार पर 12 विधायकों को संसदीय सचिव बनाया था, उन्हें उच्च न्यायालय ने अमान्य करार दिया था। इस आधार पर कांग्रेस इन विधायकों को अयोग्य ठहराने की मांग कर रही है।