भाजपा से मुकाबले के लिए हरियाणा में वरिष्ठ नेताओं को आजमाएगी कांग्रेस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 28, 2019   21:00
भाजपा से मुकाबले के लिए हरियाणा में वरिष्ठ नेताओं को आजमाएगी कांग्रेस

पार्टी के अंदरूनी सूत्रों ने बताया कि अंबाला सीट के लिए कुमारी शैलजा के नाम पर विचार किया जा रहा है और राज्य इकाई के प्रमुख अशोक तंवर सिरसा से चुनाव लड़ सकते हैं। दोनों इन सीटों से पहले सांसद रह चुके हैं।

चण्डीगढ़। हरियाणा में लोकसभा की दस सीटों के लिए कांग्रेस राज्य के वरिष्ठ नेताओं के नामों पर विचार कर रही है जिसमें इसके पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा का नाम भी शामिल है। पिछले चुनावों में भाजपा ने राज्य की नौ सीटों पर जीत हासिल की थी। 2014 के लोकसभा चुनावों में पार्टी को केवल रोहतक सीट से जीत मिली थी जहां दीपेन्द्र सिंह हुड्डा ने जीत हासिल की थी। पार्टी के अंदरूनी सूत्रों ने बताया कि अंबाला सीट के लिए कुमारी शैलजा के नाम पर विचार किया जा रहा है और राज्य इकाई के प्रमुख अशोक तंवर सिरसा से चुनाव लड़ सकते हैं। दोनों इन सीटों से पहले सांसद रह चुके हैं।

उन्होंने बताया कि कैप्टन अजय सिंह यादव गुड़गांव सीट से दौड़ में शामिल हैं और उद्योगपति नवीन जिंदल कुरुक्षेत्र से चुनाव मैदान में उतर सकते हैं। फरीदाबाद से करन सिंह दलाल के नाम पर विचार हो रहा है लेकिन उन्हें यहां के पूर्व सांसद अवतार सिंह भडाना से कड़ी टक्कर मिल सकती है जो हाल में भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए हैं। सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस भूपेन्द्र सिंह हुड्डा को मैदान में उतारकर सबको चौंका सकती है जो वर्तमान में सोनीपत के गढ़ी सांपला किलोई से विधायक हैं।

इसे भी पढ़ें: केजरीवाल की रिश्वत संबंधी टिप्पणी: आयोग ने कहा, कार्रवाई करने से पहले देंगे नोटिस

रोहतक की तरह ही सोनीपत भी हुड्डा परिवार का गढ़ माना जाता है जहां काफी संख्या में जाट वोट है। सूत्रों ने बताया कि भिवानी महेंद्रगढ़ सीट से कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी की बेटी श्रुति चौधरी के नाम पर विचार हो रहा है। पार्टी के सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक कुलदीप बिश्नोई अपने बेटे भव्य के लिए हिसार से टिकट चाह रहे हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...