हार से परेशान कांग्रेस मानसिक रूप से दिवालिया हो गई: नकवी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Aug 6 2019 6:15PM
हार से परेशान कांग्रेस मानसिक रूप से दिवालिया हो गई: नकवी
Image Source: Google

नकवी ने कहा कि कांग्रेस के पास अतीत में हुई गलतियों को सुधारने का मौका था, लेकिन अब वह अपनी गलतियों का विस्तार कर रही है। नकवी ने कहा कि अनुच्छेद 370 का खात्मा होने से जम्मू, कश्मीर और लद्दाख में समस्याओं के समाधान का रास्ता साफ होगा।

नयी दिल्ली। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी के एक बयान को लेकर निशाना साधते हुए केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मंगलवार को कहा कि ‘हेडलेस कांग्रेस’ अब ‘ब्रेनलेस’ हो गई है। दरअसल, चौधरी ने लोकसभा में सरकार से सवाल किया कि जम्मू कश्मीर देश का आंतरिक विषय है या द्विपक्षीय मामला ? साथ ही उन्होंने कहा कि 1948 से संयुक्त राष्ट्र राज्य संबंधी स्थिति की निगरानी कर रहा है।  इस पर नकवी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हेडलेस कांग्रेस अब ब्रेनलेस हो गई है। आप कैसे कह सकते हैं कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा नहीं है और यह हमारा आतंरिक मामला नहीं है?’’उन्होंने दावा किया, ‘‘हार से परेशान कांग्रेस मानसिक रूप से दिवालिया हो गई है।

इसे भी पढ़ें: कश्मीरियों की मदद के लिए पाक आर्मी किसी भी हद तक जाने को तैयार: जनरल बाजवा

सोनिया गांधी सदन में थीं, राहुल गांधी सदन में थे, लेकिन किसी ने चौधरी को नहीं रोका।’’नकवी ने कहा कि कांग्रेस के पास अतीत में हुई गलतियों को सुधारने का मौका था, लेकिन अब वह अपनी गलतियों का विस्तार कर रही है। नकवी ने कहा कि अनुच्छेद 370 का खात्मा होने से जम्मू, कश्मीर और लद्दाख में समस्याओं के समाधान का रास्ता साफ होगा।गौरतलब है कि निचले सदन में कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी ने जम्मू कश्मीर संबंधी संकल्प पेश किये जाने का विरोध करते हुए कहा, ‘‘ आप कहते हैं कि जम्मू कश्मीर देश का आंतरिक विषय है।

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर देश का आंतरिक विषय है या द्विपक्षीय मामला: अधीर रंजन चौधरी



1948 से संयुक्त राष्ट्र (यूएन) राज्य संबंधी स्थिति की निगरानी कर रहा है, यह बुनियादी प्रश्न है और सरकार को स्थिति स्पष्ट करना चाहिए। आप बतायें कि यह आंतरिक मामला है या द्विपक्षीय ? ’’ सत्तापक्ष के सदस्यों ने चौधरी के इस बयान का विरोध किया । इस दौरान टोका-टोकी की स्थिति भी देखने को मिली।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video