कांग्रेस 2019 के लिए दलितों को करेगी लामबंद, शुरू करेगी संविधान से स्वाभिमान अभियान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 25, 2018   11:40
कांग्रेस 2019 के लिए दलितों को करेगी लामबंद, शुरू करेगी संविधान से स्वाभिमान अभियान

पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा स्वीकृत इस अभियान के अंतर्गत अगले 90 दिनों तक गांव-गांव जाकर दलित समाज के लोगों के साथ सीधा संपर्क साधा जाएगा तथा छोटे-बड़े सम्मेलनों का भी आयोजन किया जाएगा।

नयी दिल्ली। कांग्रेस आगामी लोकसभा चुनाव से पहले दलित समुदाय को अपने पक्ष में लामबंद करने के मकसद से ‘संविधान से स्वाभिमान’ अभियान शुरू करने जा रही है जिसके तहत पार्टी के नेता एवं कार्यकर्ता नरेंद्र मोदी सरकार की ‘दलित एवं संविधान विरोधी नीतियों’ के बारे में लोगों को अवगत कराएंगे। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा स्वीकृत इस अभियान के अंतर्गत अगले 90 दिनों तक गांव-गांव जाकर दलित समाज के लोगों के साथ सीधा संपर्क साधा जाएगा तथा छोटे-बड़े सम्मेलनों का भी आयोजन किया जाएगा।

2019 के लिए दलित समाज को अपने पक्ष में लामबंद करने के मकसद से इस अभियान का क्रियान्वयन कांग्रेस पार्टी का अनुसूचित जाति विभाग कर रहा है। इसकी औपचारिक शुरुआत सोमवार को दिल्ली से होगी और यह अभियान अगले साल फरवरी महीने के मध्य तक चलेगा। पार्टी के अनुसूचित जाति विभाग के अध्यक्ष नितिन राउत ने कहा, ‘‘कांग्रेस अध्यक्ष की मंजूरी के बाद हम ‘संविधान से स्वाभिमान’ अभियान शुरू करने जा रहे हैं। इस अभियान के जरिए हम दलित समाज का स्वाभिमान जगाएंगे और उन्हें बताएंगे कि मोदी सरकार किस तरह से बाबा साहेब द्वारा बनाए गए संविधान पर हमले कर रही है।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘हम गांव-गांव जाएंगे और देश भर में सम्मेलन करेंगे। हमारे नेता दलित समाज को मोदी सरकार की दलित एवं संविधान विरोधी नीतियों के बारे में बताएंगे।’’ राउत ने कहा कि पार्टी की ओर से, मोदी सरकार के ‘दलित एवं संविधान विरोधी कदमों’ को लेकर पर्चे भी छपवा कर बांटे जाएंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।