सत्ता में आने पर कांग्रेस केसीआर के गलत कार्यों की जांच कराएगी: सिंघवी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 25, 2018   17:51
सत्ता में आने पर कांग्रेस केसीआर के गलत कार्यों की जांच कराएगी: सिंघवी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि केसीआर की एक हालिया टिप्पणी से यह जाहिर होता है कि वह अपनी हार (विधानसभा चुनाव में) मान चुके हैं।

हैदराबाद। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने रविवार को कहा कि यदि उनकी पार्टी तेलंगाना में सत्ता में आती है तो वह राज्य के कार्यवाहक मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के गलत कार्यों की जांच शुरू करेगी। साथ ही, उन्होंने उनके (केसीआर के) परिवार को ठग भी बताया। सिंघवी ने कहा कि चार के.- केसीआर(जिस नाम से राव को जाना जाता है), उनके बेटे एवं मंत्री के.टी. रामा राव, बेटी एवं सांसद के. कविता और कुटुंब (परिवार)- ने तेलंगाना के चार करोड़ लोगों को लूटा है। 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि केसीआर की एक हालिया टिप्पणी से यह जाहिर होता है कि वह अपनी हार (विधानसभा चुनाव में) मान चुके हैं। दरअसल, केसीआर ने यह टिप्पणी की थी कि यदि उनकी पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) सात दिसंबर का विधानसभा चुनाव हार जाती है तो वह घर में सो जाएंगे। सिंघवी ने कहा, ‘‘लेकिन मुझे मुख्यमंत्री और उनके वरिष्ठ मंत्रियों तथा परिवार के सदस्यों को यह बता देने दीजिए कि जब नयी सरकार बनेगी तब वह आपको इतनी आसानी से सोने नहीं देगी।’’ 

कांग्रेस नेता ने चेतावनी दी, ‘‘हम जवाब मांगेंगे, सभी गलत कार्यों और दुरूपयोग (सत्ता के) के लिए जवाबदेह ठहराएंगे।’’ उन्होंने कहा कि केसीआर सरकार के दिन गिने - चुने ही रह गए हैं और न सिर्फ नेता, बल्कि लोग भी सत्तारूढ़ दल को छोड़ कर जा रहे हैं, जो एक डूबता जहाज है। उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘नव गठित राज्य तेलंगाना को टीआरएस के ठगों ने लूटा है।’’ 

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि चार लोगों का कुटुंब तेलंगाना के चार करोड़ लोगों को लूट रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि टीआरएस सरकार ने लोकतंत्र के स्तंभों को ध्वस्त कर दिया है। तेलंगाना के लोग राव परिवार के सदस्यों के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 (धोखाधडी) औरप 120 (साजिश रचने) के तहत मामला दर्ज करा सकते हैं। उन्होंने दावा किया कि तेलंगाना भ्रष्टाचार सूची में दूसरे स्थान पर है। मियापुर भूमि घोटाला सहित राज्य में कई घोटाले सामने आ रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि एक ऑडिट में यह खुलासा हुआ है कि हैदराबाद में कुकटपल्ली सब रजिस्ट्रार द्वारा 696 एकड़ सरकारी भूमि निजी रियल स्टेट को दे दी। इससे सरकारी खजाने को 587 करोड़ रूपये का नुकसान हुआ है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।