बंगाल के कूच बिहार में कोरोना संक्रमण के 32 मामले, 29 मई तक नहीं था कोई भी मामला

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 30, 2020   17:38
बंगाल के कूच बिहार में कोरोना संक्रमण के 32 मामले, 29 मई तक नहीं था कोई भी मामला

जिला मजिस्ट्रेट पवन कंड्यान ने कहा कि शनिवार तक एक हजार से कुछ अधिक लोग जिले में लौटे हैं। राज्य सरकार की ओर से जारी सूची में कूच बिहार निषिद्ध क्षेत्र में शामिल नहीं था।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के कूच बिहार जिले में कम से कम 32 प्रवासी श्रमिकों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कूच बिहार में एक दिन पहले जहां संक्रमण का एक भी मामला नहीं था अब उसे निषिद्ध क्षेत्र घोषित कर दिया गया है। जिला मजिस्ट्रेट पवन कंड्यान ने कहा कि कुछ दिन पहले उत्तरी बंगाल के जिले में 32 लोग लौटकर आए थे। संक्रमित पाए जाने के बाद सिलीगुड़ी में कोविड-19 मरीजों के लिए निर्दिष्ट अस्पताल में उनका इलाज किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि संक्रमण के शिकार हुए प्रवासी श्रमिकों का दूसरा परीक्षण शनिवार को किया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल के विश्वविद्यालयों में 30 जून तक कक्षाएं निलंबित रखने की सिफारिश 

उन्होंने कहा कि शनिवार तक एक हजार से कुछ अधिक लोग जिले में लौटे हैं। राज्य सरकार की ओर से जारी सूची में कूच बिहार निषिद्ध क्षेत्र में शामिल नहीं था। वास्तव में आधिकारिक वेबसाइट अब भी यही बता रही है कि कूच बिहार में कोई निषिद्ध क्षेत्र नहीं है और जिला ग्रीन जोन में है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा शुक्रवार को जारी बुलेटिन के अनुसार जिले में कोविड-19 का कोई भी मामला नहीं है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।