गठबंधन में आपसी तकरार से बचने के लिए बनाई जा रही समन्वय समिति

गठबंधन में आपसी तकरार से बचने के लिए बनाई जा रही समन्वय समिति

महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार में आपसी समन्वय स्थापित करने के लिए एक कमेटी का गठन किया जा रहा है। मिली जानकारी के मुताबिक शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस के नेताओं को इस कमेटी में शामिल किया जाएगा। इस कमेटी में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को शामिल किया जाएगा।

मुंबई। महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार में आपसी समन्वय स्थापित करने के लिए एक समिति का गठन किया जा रहा है। मिली जानकारी के मुताबिक शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस के नेताओं को इस समिति में शामिल किया जाएगा। इस समिति में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को शामिल किया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: चव्हाण के बयान पर बोली भाजपा, पार्टी अपना नाम बदलकर कांग्रेस मुस्लिम लीग रख ले

क्यों आन पड़ी समन्वय समिति की जरूरत ?

जब से महाराष्ट्र में सरकार का गठन हुआ है उसी वक्त से तीनों पार्टियों के बीच में तकरार की स्थिति उत्पन्न होती रही है। चाहे फिर मुद्दा वीर सावरकर का रहा हो या फिर हाल का कांग्रेस का बयान... वैसे तो तीनों दलों के बीच गठबंधन है लेकिन उनकी विचारधाराएं अलग है। ऐसे में किसी-न-किसी मुद्दे को लेकर तीनों पार्टियां आमने-सामने आ जाती है। इसी समस्या से निजात पाने के लिए समन्वय समिति का गठन किया जाना है।

इसे भी पढ़ें: मुंबई वालों के लिए खुशखबरी, अब चौबीसों घंटे खुली रहेंगी दुकानें और मॉल

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस समिति में तीनों दलों के नेता शामिल रहेंगे। कहा जा रहा है कि समिति में शिवसेना से उद्धव ठाकरे और अनिल देसाई, एनसीपी से शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल, जबकि कांग्रेस से मल्लिकार्जुन खड़गे और अहमद पटेल होंगे। 

इसे भी देखें: 37 दिन में दूसरी बार डिप्टी सीएम बन ही गए अजित पवार





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।