असम में कोरोना के मामले 900 के पार, मरीजों के लिए नए केंद्र का हुआ उद्घाटन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 29, 2020   19:28
असम में कोरोना के मामले 900 के पार, मरीजों के लिए नए केंद्र का हुआ उद्घाटन

जीएमसीएच में कोविड-19 के नए केंद्र का उद्घाटन करने के बाद सरमा ने कहा कि केंद्र द्वारा 150 करोड़ की सहायता से निर्मित यह इकाई पूर्वी भारत में अपनी तरह का पहला केंद्र है।

गुवाहाटी। असम में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या नौ सौ के पार पहुंच गई है और इसी बीच गुवाहाटी मेडिकल कालेज एवं अस्पताल (जीएमसीएच) में शुक्रवार को कोविड-19 के मरीजों के उपचार लिए समर्पित एक इकाई का उद्घाटन किया गया। स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने यह जानकारी दी। राज्य में सामने आए संक्रमण के कुल 910 मामलों में 794 मरीजों का उपचार चल रहा है। शुक्रवार को जीएमसीएच से छह मरीजों को छुट्टी दे दी गई जिसके बाद ठीक हो चुके मरीजों की संख्या 109 पर पहुंच गई।

राज्य में अब तक कोविड-19 से चार लोगों की मौत हो चुकी है और तीन राज्य से बाहर चले गए हैं। मंत्री ने कहा कि ताजा सामने आए संक्रमण के 30 मामलों मे से 16 गोलाघाट, छह करीमगंज, और लखीमपुर, कछार, हैलाकांदी और कारबी आंगलोंग के दो-दो मामले हैं। जीएमसीएच में कोविड-19 के नए केंद्र का उद्घाटन करने के बाद सरमा ने कहा कि केंद्र द्वारा 150 करोड़ की सहायता से निर्मित यह इकाई पूर्वी भारत में अपनी तरह का पहला केंद्र है। 

इसे भी पढ़ें: स्वाइन फ्लू का खतरा! चीन ने लगाई भारत के सूअर के मांस के आयात पर रोक

सरमा ने ट्वीट किया, “जीएमसीएच की नई इकाई में केंद्रीयकृत वातानुकूलन की सुविधा है और इसमें 14 अल्ट्रावायलेट जर्मीसाइडल इरेडिएशन सिस्टम लगे हैं जिनसे भीतर की हवा की गुणवत्ता बढ़ेगी और बैक्टीरिया से निजात मिलेगी। प्रत्येक बिस्तर मेडिकल गैस आपूर्ति की सुविधा से लैस है।” चार मंजिला इमारत में बनी इस इकाई में 236 बिस्तर हैं जिनमें से 50 गहन चिकित्सा कक्ष में हैं और 186 वार्ड में हैं। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...