इंदौर में कोरोना के रिकॉर्ड 272 नये मामले मिले, 800 और बिस्तर जुटा रहा प्रशासन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 31, 2020   13:27
इंदौर में कोरोना के रिकॉर्ड 272 नये मामले मिले, 800 और बिस्तर जुटा रहा प्रशासन

अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि जिले में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 272 नये मामले मिले हैं। यह जिले में महामारी के पिछले पांच महीने से जारी प्रकोप के दौरान एक ही दिन में मिले संक्रमितों की अब तक की सर्वाधिक तादाद है।

इंदौर (मध्यप्रदेश)। देश में कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर में कोरोना वायरस संक्रमण के 272 नये मामले सामने आये हैं और जिले में महामारी के प्रकोप के मद्देनजर प्रशासन को स्थानीय अस्पतालों में 800 और बिस्तरों के इंतजाम की जद्दोजहद में जुटना पड़ा है। अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि जिले में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 272 नये मामले मिले हैं। यह जिले में महामारी के पिछले पांच महीने से जारी प्रकोप के दौरान एक ही दिन में मिले संक्रमितों की अब तक की सर्वाधिक तादाद है।

उन्होंने बताया कि नये मामलों के बाद जिले में अब तक तक मिले संक्रमितों की कुल तादाद बढ़कर 12,992 हो गयी है। इनमें से 393 मरीजों की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है, जबकि 8,934 लोग इलाज के बाद स्वस्थ हो चुके हैं। सरकारी आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि जिले में अगस्त में कोरोना वायरस संक्रमण की रफ्तार सबसे तेज है। जिले में एक अगस्त से 30 अगस्त के बीच 5,544 नये संक्रमित मिले हैं। यह आंकड़ा जिले में महामारी के कुल मरीजों की तादाद का करीब 43 फीसद है। इस बीच, कोविड-19 की रोकथाम के लिये जिले के नोडल अधिकारी डॉ. अमित मालाकार ने बताया, फिलहाल हमारे पास अलग-अलग अस्पतालों में कोविड-19 के मरीजों के लिये कुल 3,700 बिस्तरों की व्यवस्था है। इनमें से 90 प्रतिशत बिस्तर भरे हैं। 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के एक दिन में सर्वाधिक 1,558 नए मामले, 29 लोगों की मौत

उन्होंने बताया, मौजूदा हालात के मद्देनजर हम अगले एक हफ्ते के भीतर महामारी के मरीजों के लिये अस्पतालों में 800 और बिस्तर जुटाने जा रहे हैं। इनमें हाल ही में लोकार्पित शासकीय सुपर स्पेशलिटी चिकित्सालय के 537 बिस्तर शामिल होंगे। जिले में कोविड-19 के प्रकोप की शुरूआत 24 मार्च से हुई, जब पहले चार मरीजों में इस महामारी की पुष्टि हुई थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।