महाराष्ट्र में फिलहाल कोरोना प्रतिबंधों में ढील नहीं, 21 जिलों में संक्रमण दर 10 प्रतिशत से अधिक

महाराष्ट्र में फिलहाल कोरोना प्रतिबंधों में ढील नहीं, 21 जिलों में संक्रमण दर 10 प्रतिशत से अधिक

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि 1 जून के बाद राज्य में फिलहाल लॉकडाउन जैसे प्रतिबंधों को हटाने की कोई संभावना नहीं है क्योंकि अभी 21 जिलों में कोविड-19 संक्रमण दर 10% से अधिक है।

मुंबई। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संकट की वजह से लॉकडाउन जैसे प्रतिबंध लगाए गए थे। एक वक्त था जब राज्य में 65000 तक नए मामले प्रतिदिन आने लगे थे। अब नए मामलों में गिरावट देखी जा रही है। इन सबके बीच इस बात की उम्मीद की जा रही थी कि अब महाराष्ट्र में लॉकडाउन जैसे प्रतिबंधों में ढील दी जाएगी। लेकिन राज्य सरकार ने फिलहाल इसे खारिज किया है। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि 1 जून के बाद राज्य में फिलहाल लॉकडाउन जैसे प्रतिबंधों को हटाने की कोई संभावना नहीं है क्योंकि अभी 21 जिलों में कोविड-19 संक्रमण दर 10% से अधिक है। उन्होंने कहा कि हालांकि, कोरोना वायरस के प्रसार पर नियंत्रण के लिए एक जून तक लागू राज्यव्यापी प्रतिबंधों में उन स्थानों पर छूट दी जा सकती है जहां संक्रमण दर कम है।

मंत्रिमंडल की बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए, टोपे ने कहा कि बैठक के दौरान कोविड​​​​-19 स्थिति पर एक विस्तृत प्रस्तुति दी गई और इससे पता चला कि मामले की संक्रमण दर 21 जिलों (36 जिलों में से) में 10 प्रतिशत से अधिक है। उन्होंने कहा, “कैबिनेट ने महसूस किया कि वर्तमान में पूरी तरह से प्रतिबंधों को हटाना सही नहीं है।” उन्होंने कहा कि उन जगहों पर छूट दी जा सकती है जहां संक्रमण दर कम है। इस बीच, ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने कहा कि सरकारी नौकरियों में पदोन्नति के लिए आरक्षित श्रेणी में रिक्तियों को भरने के मुद्दे पर एक जून को उपमुख्यमंत्री अजीत पवार की अध्यक्षता में होने वाली कैबिनेट उप-समिति की बैठक में चर्चा की जाएगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।