हिमाचल प्रदेश में कोरोना संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 300 के पार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 30, 2020   16:27
हिमाचल प्रदेश में कोरोना संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 300 के पार

कुल्लू के पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने बताया कि कुल्लू जिले में एकमात्र कोरोना संक्रमित व्यक्ति अब ठीक हो गया है। कोविड-19 के नये मामलों में से तीन हाल में दिल्ली से लौटे थे जबकि एक हरियाणा के गुड़गांव और एक उत्तर प्रदेश के शामली से लौटा था।

शिमला। हिमाचल प्रदेश में शनिवार को कोरोना वायरस के पांच और मामले सामने आने के साथ ही राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या 300 से अधिक हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि पांच नये मामलों में से चार मामले कांगड़ा जिले से हैं और एक सोलन का है। अब कुल संक्रमित लोगों की संख्या 302 हो गई है। कुल्लू के पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने बताया कि कुल्लू जिले में एकमात्र कोरोना संक्रमित व्यक्ति अब ठीक हो गया है। कोविड-19 के नये मामलों में से तीन हाल में दिल्ली से लौटे थे जबकि एक हरियाणा के गुड़गांव और एक उत्तर प्रदेश के शामली से लौटा था।  

इसे भी पढ़ें: MEA के दो कर्मचारी कोविड-19 से संक्रमित, संपर्क में आए सभी कर्मचारियों को पृथक-वास में रहने के लिए कहा गया 

जिले के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘कांगड़ा में चार लोगों को शनिवार की सुबह कोविड-19 से संक्रमित पाया गया।’’ उन्होंने कहा कि उनमें से तीन दिल्ली से लौटे थे और एक गुड़गांव से। जिला स्वास्थ्य अधिकारी (डीएचओ) एन. के. गुप्ता ने कहा कि सोलन में 11 वर्षीय एक लड़के को शनिवार को संक्रमित पाया गया। उसकी मां बृहस्पतिवार को संक्रमित पाई गई थी। डीएचओ ने कहा कि दोनों उत्तरप्रदेश के शामली से लौटे थे। इसी के साथ राज्य में अब 206 मरीज इलाज करा रहे हैं, जबकि कोविड-19 के 90 मरीज ठीक हो चुके हैं। राज्य में संक्रमण से छह लोगों की मृत्यु हो चुकी है। हमीरपुर में सर्वाधिक मरीजों का इलाज चल रहा है जिनकी संख्या 87 है, वहीं कांगड़ा में 54, सोलन में 15, उना में 14, बिलासपुर में 11, चम्बा में नौ, मंडी और शिमला में सात-सात और सिरमौर में दो लोगों का इलाज चल रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।