केरल में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3500 के पार, मुख्यमंत्री ने कहा- स्थिति हो रही है गंभीर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 23, 2020   21:53
केरल में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3500 के पार, मुख्यमंत्री ने कहा- स्थिति हो रही है गंभीर

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि 60 लोग आज संक्रमण से ठीक हुए हैं, जबकि वर्तमान में 1,620 मरीजों का इलाज चल रहा है और 1.50 लाख लोगों को निगरानी में रखा गया है।

तिरुवनंतपुरम। केरल में मंगलवार को कोविड-19 के 141 मामले सामने आने के साथ राज्य में संक्रमितों की संख्या 3,503 तक पहुंच गई। राज्य में लगातार पांचवें दिन संक्रमण के 100 से अधिक मामले सामने आये हैं। इस बीच, मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने लोगों को सावधान किया कि स्थिति ‘‘गंभीर’’ हो रही है। दिल्ली से लौटे कोल्लम के 68 वर्षीय एक व्यक्ति की मंगलवार को संक्रमण के कारण मौत हो गई, जिससे राज्य में संक्रमण के कारण अब तक जान गंवाने वालों की संख्या 22 हो गयी। 

इसे भी पढ़ें: कौन हैं सबरीमाला मंदिर स्थित भगवान 'अय्यप्पा' ? जानें इसकी महिमा के बारे में

विजयन ने यहां संवाददाताओं से कहा कि 60 लोग आज संक्रमण से ठीक हुए हैं, जबकि वर्तमान में 1,620 मरीजों का इलाज चल रहा है और 1.50 लाख लोगों को निगरानी में रखा गया है। पथनमथिट्टा और पलक्कड़ में संक्रमण के 27-27 मामले सामने आये, जबकि अलप्पुझा में 19, त्रिशूर में 14, एर्नाकुलम में 13, मलप्पुरम में 11, कोट्टायम में आठ, कोझीकोड और कन्नूर ने छह-छह मामले सामने आए हैं। तिरुवनंतपुरम और कोल्लम में चार-चार मामले और वायनाड में दो मामले सामने आये हैं। 

इसे भी पढ़ें: केरल CM के चीन की घुसपैठ पर कोई प्रतिक्रिया नहीं देने पर कांग्रेस ने उठाए सवाल 

मुख्यमंत्री ने कहा कि पुष्ट मामलों में से, 79 मरीज विदेश से आए थे और 52 मरीज अन्य राज्यों से आये थे, जबकि एक स्वास्थ्य कर्मी समेत नौ अन्य लोग संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आये थे। वर्तमान में राज्य में 111 हॉटस्पॉट हैं। कई जगहों से बिना लक्षण वाले मामले भी सामने आए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘स्थिति गंभीर हो रही है। ऐसे लोग भी संक्रमित पाए गए हैं, जिन्हें कोई लक्षण नहीं था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।