UP में कोरोना संक्रमण के 672 नए मामले आए सामने, 25 और मरीजों ने तोड़ा दम

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 30, 2020   16:28
UP में कोरोना संक्रमण के 672 नए मामले आए सामने, 25 और मरीजों ने तोड़ा दम

उत्तर प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि इस अवधि में कोविड-19 संक्रमण के 672 नए मामले सामने आए हैं। इस वक्त उपचाराधीन मामलों की संख्या 6711 है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 संक्रमित 25 और लोगों की मौत हो गई। वहीं, संक्रमण के 672 नए मामले सामने आए। प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने मंगलवार को बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश में कोविड-19 संक्रमित 25 और लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 697 हो गया है। उन्होंने बताया कि इस अवधि में कोविड-19 संक्रमण के 672 नए मामले सामने आए हैं। इस वक्त उपचाराधीन मामलों की संख्या 6711 है। अब तक 16084 लोग पूरी तरह ठीक हो कर घर जा चुके हैं। अब ठीक होने वाले मरीजों का प्रतिशत बढ़कर 68.46% हो गया है। 

इसे भी पढ़ें: पूर्व कैबिनेट मंत्री सहित 5 सपा नेताओं पर निषेधाज्ञा के उल्लंघन का मुकदमा दर्ज 

प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में इस समय पृथक वार्ड में 6714 लोगों को रखकर उनका इलाज किया जा रहा है और पृथकवास केंद्र में 4908 लोग हैं, जिनके नमूने लेकर जांच कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि मंगलवार को प्रदेश में 21414 नमूनों की जांच की गई और राज्य में अब तक 727793 नमूनों की जांच की जा चुकी है। प्रसाद ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा डेढ़ लाख बिस्तर तैयार करने के लक्ष्य को पूरा करते हुए अब राज्य के L1, L2, L3 अस्पतालों में कुल 151172 बिस्तरों की उपलब्धता सुनिश्चित कर ली गई है। उन्होंने बताया कि बरसात के मौसम में डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, इंसेफेलाइटिस, जेई और एईएस समेत कई तरह के संचारी रोग फैलते हैं। इनसे बचाव के लिए एक जुलाई से एक माह का संचारी रोग अभियान शुरू किया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: वैज्ञानिकों ने खोज निकाला, कोरोना प्रसार के जोखिम वाले क्षेत्रों का पता लगाने का नया तरीका 

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि इसकी शुरुआत बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ से करेंगे। इस अवसर पर सभी 75 जिलों में अभियान की शुरुआत करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिनमें मंत्री, सांसद तथा विधायक शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि इस अभियान के दौरान नगर विकास, पंचायती राज विभाग, शिक्षा विभाग, दिव्यांग जन सशक्तिकरण समेत कई विभाग काम करेंगे। इसके अलावा 16 जुलाई से 31 जुलाई तक आशा कार्यकर्ता दस्तक अभियान चलाएंगी, जिसमें वे घर-घर जाकर लोगों को जागरूक करेंगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।