विज्ञान के प्रयोग से भ्रष्टाचार पर लगाया जा सकता है अंकुश: योगी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 9 2019 6:59PM
विज्ञान के प्रयोग से भ्रष्टाचार पर लगाया जा सकता है अंकुश: योगी
Image Source: Google

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विज्ञान के प्रयोग से भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया जा सकता है। विज्ञान मानव जीवन में क्रांतिकारी परिवर्तन ला सकता है।

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कहा कि विज्ञान के प्रयोग से भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाये जाने के साथ ही मानव जीवन के पथ को सुगम बनाया जा सकता है। योगी ने अपने दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन आईआईटी बीएचयू की 100वीं ‘एल्युमिनाई मीट’ का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि विज्ञान के प्रयोग से भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया जा सकता है। विज्ञान मानव जीवन में क्रांतिकारी परिवर्तन ला सकता है।

इसे भी पढ़ें: UP के बजट में किसानों, महिलाओं, बुजुर्गों के लिए कई कल्याणकारी योजनाओं की घोषणा

उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन योजना के अंतर्गत गत साढ़े चार वर्षों में 9.5 करोड़ परिवारों के लिए शौचालय बनाए गए। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में 16 लाख स्ट्रीट लाइटें थीं। इसमें हैलोजन बल्ब जलते रहे जिसके कारण ऊर्जा की भारी खपत होने के साथ ही राजस्व का भी भारी व्यय होता था। भाजपा सरकार ने हैलोजन लाइट को हटाकर एलईडी बल्ब लगाए जाने का निर्णय लिया। अब तक आठ लाख स्ट्रीट लाइट बदली जा चुकी हैं जिससे 250 करोड़ रुपए सालाना राजस्व की बचत हुई है।

इसे भी पढ़ें: बजट को लुभावना बताते हुए बोलीं मायावती, जनता के लिए जनहित का कार्य ही महत्वपूर्ण



मुख्यमंत्री ने कहा कि जब प्रदेश में हमारी सरकार बनी तब जहां जाओ वहां बूचड़खाने चल रहे थे। इनको प्रतिबंधित कराया गया तो लोगों ने गौवंश सड़कों और खेतों में छोड़ दिये। अब हमने इनको पालने के लिए काम शुरू किया है। उन्होंने कहा कि गाँव में इन गौवंश को रखकर इनके गोबर और गौ मूत्र से ईंधन का निर्माण करें। इसके लिए तकनीक को जरूरी बताते हुए उन्होंने युवा इंजीनियरों का आह्वान किया कि आईआईटी बीएचयू इसके लिए चिंतन करे और तकनीक विकसित करें।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video