अरुणाचल प्रदेश में कोविड-19 के मामले हजार पार, स्वस्थ होने की दर 35 फीसदी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 25, 2020   15:14
अरुणाचल प्रदेश में कोविड-19 के मामले हजार पार, स्वस्थ होने की दर 35 फीसदी

राज्य के निगरानी अधिकारी डॉ. एल जम्पा ने कहा कि राज्य में स्वस्थ होने की दर 35 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि राज्य में अभी तक 53,335 नमूनों की जांच की गई है।

ईटानगर। अरुणाचल प्रदेश में 33 सुरक्षाकर्मियों समेत 65 और लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद संक्रमण के कुल मामले 1,000 के पार चले गए हैं। राज्य के निगरानी अधिकारी डॉ. एल जम्पा ने बताया कि नए मरीजों के सामने आने से संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,056 हो गए हैं। उन्होंने बताया कि नए मामलों में 30 पापुम परे जिले, पांच तिराप, तीन लोहित, दो लोअर दिबांग घाटी और एक-एक मामला नमसई और पश्चिम कामेंग तथा 23 कैपिटल कॉम्प्लेक्स क्षेत्र से सामने आए। उन्होंने कहा, ‘‘पापुम परे में संक्रमित पाए गए सभी 30 लोग भारत तिब्बत सीमा पुलिस कर्मी हैं और वे पृथक केंद्र में रह रहे हैं जबकि कैपिटल कॉम्प्लेक्स में 23 मामले क्षेत्र के विभिन्न इलाकों से सामने आए हैं।’’ तिराप में पांच नए मरीजों में से दो राज्य पुलिसकर्मी हैं। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना के खिलाफ रणनीति बनाते-बनाते खुद चपेट में आए मुख्यमंत्री और ये तमाम मंत्री 

उन्होंने बताया कि जल संसाधन विभाग का एक कर्मचारी और असम से लौटा एक शख्स भी जिले में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है। जम्पा ने बताया कि लोहित जिले में संक्रमित तीन लोग सीमा सड़क कार्य बल (बीआरटीएफ) से हैं। वे हाल ही में उत्तर प्रदेश से लौटे और पृथक केंद्र में रह रहे थे। राज्य निगरानी अधिकारी ने बताया कि लोअर दिबांग घाटी जिले में रोइंग के दो मरीज असम से लौटे थे जबकि पश्चिम कामेंग में संक्रमित एक शख्स सेना का कर्मचारी है जो हाल ही में आंध्र प्रदेश से लौटा था। उन्होंने बताया कि नमसई का मरीज भी असम से लौटा था।

जम्पा ने कहा, ‘‘छह को छोड़कर सभी मरीजों में लक्षण नहीं हैं और उन्हें कोविड देखभाल केंद्रों में ले जाया गया।’’ अरुणाचल प्रदेश में देश के अन्य हिस्सों से प्रवासियों के लौटने के बाद कोरोना वायरस के मामले बढ़ गए हैं। जम्पा ने बताया कि राज्य में एक जुलाई के बाद से कोरोना वायरस के मामले बढ़ गए हैं। इस महीने 865 लोग संक्रमित पाए गए। राज्य में कोविड-19 का पहला मामला दो अप्रैल को सामने आया था और वह व्यक्ति 16 अप्रैल को स्वस्थ हो गया। राज्य में 24 मई को करीब छह हफ्तों के अंतर के बाद दूसरा मामला सामने आया। कैपिटल कॉम्प्लेक्स में सबसे अधिक 374 मामले सामने आए। कैपिटल कॉम्प्लेक्स में ईटानगर, नहार्लगुन, निर्जुली और बंदेरदेवा इलाके शामिल हैं। इसके बाद पापुम परे में 57, नमसई में 42, पूर्वी सियांग में 39 और चांगलांग जिलों में 20 मामले सामने आए। 

इसे भी पढ़ें: जनता और सरकार ने मिल कर कोरोना संक्रमण पर विजय पाई है लेकिन लड़ाई अभी समाप्त नहीं हुई: केजरीवाल 

अधिकारी ने बताया कि कैपिटल कॉम्प्लेक्स में 45, चांगलांग जिले में 10, लोअर सुबनसिरी में दो और नमसई में एक मरीज को शुक्रवार को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई। राज्य में अब भी 661 लोग संक्रमित हैं जबकि 392 लोग इस बीमारी से उबर चुके हैं और तीन की मौत हो चुकी है। जम्पा ने कहा कि राज्य में स्वस्थ होने की दर 35 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि राज्य में अभी तक 53,335 नमूनों की जांच की गई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।