भाकपा महासचिव पद से इस्तीफा दे सकते हैं सुधाकर रेड्डी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 14 2019 4:23PM
भाकपा महासचिव पद से इस्तीफा दे सकते हैं सुधाकर रेड्डी
Image Source: Google

भाकपा महासचिव एस सुधाकर रेड्डी ने चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद पार्टी पोलित ब्यूरो की बैठक में भी हार की ज़िम्मेदारी लेते हुए इस्तीफ़े की पेशकश की थी

नयी दिल्ली। लोकसभा चुनाव में भाकपा की हार की जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी महासचिव एस सुधाकर रेड्डी अपने पद से इस्तीफ़ा दे सकते है। भाकपा सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन की समीक्षा के लिए जुलाई में आयोजित राष्ट्रीय परिषद की बैठक में रेड्डी महासचिव पद से इस्तीफ़ा दे सकते है। रेड्डी ने चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद पार्टी पोलित ब्यूरो की बैठक में भी हार की ज़िम्मेदारी लेते हुए इस्तीफ़े की पेशकश की थी। हालाँकि पार्टी नेताओं ने चुनाव में हार के लिए सभी नेताओं की सामूहिक ज़िम्मेदारी होने की बात कहते हुए उनकी पेशकश मानने से इंकार कर दिया। 

इसे भी पढ़ें: चुनाव परिणाम आने के बाद वाम दल तय करेंगे आगे की रणनीति

उल्लेखनीय है कि भाकपा को लोक सभा चुनाव में सिर्फ़ दो सीट मिल सकी है। समझा जाता है कि रेड्डी ने अपनी ख़राब सेहत के कारण भी अब महासचिव पद से इस्तीफ़ा देने का मन बना लिया है। उनका मानना है कि स्वास्थ्य कारणों से भी अब वह आगे काम करने की स्थिति में नहीं है। उल्लेखनीय है कि 12वीं और 14वीं लोकसभा में सदस्य रहे रेड्डी 2012 में भाकपा के महासचिव बने थे। उन्होंने लोकसभा में तेलंगाना की नलगोंडा सीट से पार्टी का प्रतिनिधित्व किया था। रेड्डी ने इस्तीफ़े के सवाल पर कोई प्रतिक्रिया देने से इंकार करते हुए सिर्फ़ इतना ही कहा कि इस बारे में अंतिम फ़ैसला 19-20 जुलाई को होने वाली पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में किया जाएगा।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video