कश्मीर में कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध बरकरार, इंटरनेट सेवाओं पर रोक

जम्मू कश्मीर में सुरक्षा बलों की कार्रवाई में पांच लोगों के मारे जाने के बाद कश्मीर के कुछ हिस्सों में चौथे दिन भी कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध जारी हैं और पूरी घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं रोक दी गई हैं।

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में सुरक्षा बलों की कार्रवाई में पांच लोगों के मारे जाने के बाद कश्मीर के कुछ हिस्सों में चौथे दिन भी कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध जारी हैं और पूरी घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं रोक दी गई हैं। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए कुपवाड़ा और हंदवाड़ा सहित उत्तरी कश्मीर के कुछ इलाकों में कड़ी पाबंदी लगाई गई है। ऐहतियात के तौर पर श्रीनगर शहर के कुछ पुलिस थानों में भी पाबंदियां जारी हैं।

उन्होंने कहा कि प्रभावित पुलिस थानों में महाराजगंज, खानयार, नोहट्टा, रैनावारी, सफकदल और मैसुमा शामिल हैं। मंगलवार को हंडवाड़ा में एक जवान द्वारा एक लड़की से कथित छेड़छाड़ के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान तीन व्यक्तियों की मौत होने के बाद ये प्रतिबंध लगाए गए। हंदवाड़ा घटना के अगले दिन विरोध प्रदर्शन के दौरान कुपवाड़ा क्षेत्र के द्रगमुल्ला क्षेत्र में एक अन्य व्यक्ति मारा गया। शुक्रवार को हिंसा की एक ताजा घटना में 18 वर्षीय आरिफ हुसैन डार मारा गया तथा तीन अन्य लोग सेना की गोली से घायल हुए। आरिफ की मौत तब हुई जब यहां से करीब 100 किलोमीटर दूर कुपवाड़ा के नाथनुसा क्षेत्र में पत्थरबाजी कर रहे प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए सेना ने गोली चलाई। अधिकारी ने कहा कि अफवाह फैलने से रोकने के लिए पूरी कश्मीर घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं काट दी गई हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


Tags

    अन्य न्यूज़