भोपाल के बैरागढ़ में दो सगे भाईयों की संदिग्ध अवस्था में मिली लाश

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 28, 2020   21:43
भोपाल के बैरागढ़ में दो सगे भाईयों की संदिग्ध अवस्था में मिली लाश

बैरागढ़ थाना प्रभारी शिवपाल सिंह कुशवाहा ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम कर लिया है। पूरे मामले की जांच की जा रही है। मृतक दोनों सगे भाई मकान में अकेले रहते थे और दोनों की शादी भी नहीं हुई थी। छोटे भाई की उम्र 36 साल तो बड़े भाई की उम्र लगभग 40 साल बताई जा रही है।

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के बैरागढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत एक फ्लैट में दो सगे भाईयों की लाश मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई। बैरागढ़ स्थित इलाहाबाद बैंक रोड पर शिव मंदिर के पास फ्लैट के दूसरे माले पर यह दोनों सगे भाई रहते थे। इलाके में बदबू फैलने के बाद लोगों की शिकायत पर यह मामला सामने आया। बताया जा रहा है मृतको की लाश कई दिन पुरानी होने के कारण सड़ गई थी और बदबू आने लगी थी। जिसके बाद रहवासियों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। बैरागढ़ थाना प्रभारी शिवपाल सिंह कुशवाहा ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम कर लिया है। पूरे मामले की जांच की जा रही है। मृतक दोनों सगे भाई मकान में अकेले रहते थे और दोनों की शादी भी नहीं हुई थी। छोटे भाई की उम्र 36 साल तो बड़े भाई की उम्र लगभग 40 साल बताई जा रही है। दोनों मृतकों की लाश पोस्टमार्टम के लिए भेज दी गई है।

इसे भी पढ़ें: कमलनाथ सरकार ने चाइनीज कंपनी को दिया था नियम विरूद्ध 271 करोड़ का ठेका

वही पुलिस की माने तो मौके पर एक भाई जमीन पर मृत अवस्था में पड़ा था, तो दूसरा भाई फांसी लगाकर लटका हुआ था। जिसके बाद पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है और जांच में जुट गई है। लाश छोटे भाई की लगभग 4 दिन पुरानी है तो वही बड़े भाई की लगभग 2 दिन पुरानी बताई जा रही है। बताया जा रहा है जिस भाई की बॉडी जमीन पर सड़ी स्थिति में पड़ी मिली उसका नाम नरेश लालवानी है। जो अधिकतर बीमार रहता था और दिव्यांग था। जिसके चलते उसका बड़ा भाई धर्मेश लालवानी उसका पालन पोषण कपड़े की फेरी लगाकर करता था। वही यह भी बताया जा रहा है कि नरेश लालवानी ने पिछले 10 दिनों से खाना खाना बंद कर दिया था। जिसके चलते उसकी मृत्यु होने का अनुमान लगाया जा रहा है। वही धर्मेश की मृत्यु का अनुमान लगाया जा रहा है कि उसने भाई के गम में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है। हालंकि अभी स्थिति स्पष्ट नहीं हो पाई है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।