दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी नहीं कर सके MCD Elections में मतदान, जानें कारण

anil chaudhary
ANI Image
रितिका कमठान । Dec 04, 2022 11:48AM
दिल्ली नगर निगम चुनाव के लिए मतदान किया जा रहा है। बड़ी संख्या में मतदाता चुनाव केंद्रों पर पहुंच रहे है। इसी बीच दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी के साथ बड़ी परेशानी हो गई है। वो मतदान केंद्र पर मतदान करने पहुंचे मगर वो वोट नहीं कर सके।

दिल्ली में नगर निगम के सभी 250 वार्ड के लिए मतदान शुरू हो गया है। मतदान करने के लिए लोग अपने घरों से निकलकर मतदान केंद्र पहुंच रहे है। इसी बीच दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी भी मतदान केंद्र वोट करने पहुंचे। मगर मतदान केंद्र पहुंचने के बाद भी वो अपना वोट नहीं कर सके। उन्हें काफी झटका लगा क्योंकि उनका नाम मतदाता सूची में नहीं था।

मतदाता केंद्र पहुंचने के बाद अनिल चौधरी का नाम मतदान कर्मी लगातार ढूंढते रहे मगर उनका नाम वोटर लिस्ट में नहीं मिला। अनिल चौधरी दल्लूपुरा के मतदान केंद्र पर अपना वोट डालने पहुंचे थे। मगर यहां उन्हें बड़ा झटका लग गया। वो अपनी पत्नी के साथ मतदान केंद्र पहुंचे थे। मतदान करने से पहले उन्होंने कालका माई के दरबार में मत्था टेका था।

इस मामले पर अनिल चौधरी ने कहा कि मेरा नाम वोटर लिस्ट में नहीं है। मेरी पत्नी ने वोड डाल दिया है। यहां तक की मेरा नाम डिलीट वोटर लिस्ट में भी नहीं है। अधिकारियों ने मामले की जांच शुरू की है। उन्होंने कहा कि अब तक ये नहीं पता चला है कि मेरा नाम लिस्ट में है या नहीं। उन्होंने कहा कि इस मामले में चुनाव आयोग के बयान का भी इंतजार किया जा रहा है।

250 सीटों पर हो रहा मतदान

दिल्ली नगर निगम के 250 वार्डों पर होने वाले चुनाव के लिए 13,638 मतदान केंद्र और 68 पिंक पोलिंग बूथों पर वोटिंग हो रही है। इस बार चुनाव में 1336 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिसमें 709 महिला प्रत्याशी हैं। दिल्ली में 104 सीटें पुरुषों के लिए रिजर्व है जबकि 104 सीट महिलाओं के लिए रिजर्व है। वहीं, 42 सीट एससी के लिए आरक्षित हैं। इन सीटों के लिए आज कुल 1,46,73,847 मतदाता वोट देंगे। इसमें 79,86,705 पुरुष व 66,86,081 महिलाएं और 1,061 ट्रांसजेंडर मतदाता हैं। दिल्ली एमसीडी पर फिलहाल भाजपा का कब्जा है। 

ड्रोन से रखी जा रही नजर

बता दें कि चुनाव सुगम तरीके से कराने के लिए करीब 40,000 पुलिसकर्मी, 20,000 होमगार्ड और अर्द्धसैनिक तथा राज्य सशस्त्र पुलिस बलों की 108 कंपनी को तैनात किया गया है। पुलिस के मुताबिक संवेदनशील क्षेत्रों में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए 60 ड्रोन से नजर रखी जा रही है।

अन्य न्यूज़