दिल्ली सरकार का दावा, हम वायु प्रदूषण से निपटने के लिए तैयार है

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Oct 31 2018 8:38PM
दिल्ली सरकार का दावा, हम वायु प्रदूषण से निपटने के लिए तैयार है
Image Source: Google

दिल्ली सरकार ने बुधवार को कहा कि वह शहर की खराब होती वायु गुणवत्ता से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उसके पास आपात योजना है और जरूरत पड़ने पर ओड-ईवन (सम-विषम) लागू किया जाएगा।

नयी दिल्ली। दिल्ली सरकार ने बुधवार को कहा कि वह शहर की खराब होती वायु गुणवत्ता से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उसके पास आपात योजना है और जरूरत पड़ने पर ओड-ईवन (सम-विषम) लागू किया जाएगा। पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने में बढ़ोतरी के साथ ही दिल्ली में मंगलवार को इस मौसम में पहली बार वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ स्थिति में चली गई थी । इसके बाद अधिकारियों को निर्माण गतिविधियों तथा एक से 10 नवंबर तक कुछ उद्योगों को बंद करने जैसे उपाय करने पड़े। नवंबर के शुरूआती दिनों में वायु गुणवत्ता के खराब होने का अंदेशा है।

दिल्ली परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने पत्रकारों से कहा कि सरकार बढ़ते प्रदूषण से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा, ‘दिल्ली सरकार ग्रेडेड रिसपांस एक्शन प्लान (जीआरएपी) के तहत उपाय करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं जिसमें ओड-ईवन को लागू करना भी शामिल है। उन्हें जरूरत पड़़ने पर लागू करेंगे।’ जीआरएपी एक आपात योजना है जिसमें प्रदूषण से निपटने के लिए 15 अक्टूबर से लागू किया गया है। योजना में शहर की वायु गुणवत्ता के अनुरूप उपाय हैं।

मंत्री ने कहा कि निजी गाड़ियों को नियंत्रित करने के संबंध में उन्हें उच्चतम न्यायालय द्वारा नियुक्त पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण (ईपीसीए) से कोई सूचना नहीं मिली। सरकार ने 2016 में एक से 15 जनवरी और 15 से 30 अप्रैल के बीच दो बा ओड ईवन योजना को लागू किया था। इस योजना के तहत एक दिन सम नंबर वाली गाड़ियां चलती हैं जबकि दूसरे दिन विषम नंबर वाले वाहन सड़कों पर उतरते हैं।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story