बसों में CCTV, जीपीएस और आपात बटन लगाने का काम एक सितंबर से शुरू करेगी दिल्ली सरकार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 31, 2020   17:27
बसों में CCTV, जीपीएस और आपात बटन लगाने का काम एक सितंबर से शुरू करेगी दिल्ली सरकार

परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दिल्ली मंत्रिमंडल ने पिछले साल दिसंबर में इस योजना को मंजूरी दी थी, लेकिन कोरोना वायरस की महामारी की वजह से काम रूका हुआ था।

नयी दिल्ली। दिल्ली सरकार मंगलवार से बसों में आपात बटन, सीसीटीवी कैमरे और वैश्विक स्थान निर्धारण प्रणाली (जीपीएस) लगाने का काम शुरू करेगी। यह काम इस साल के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है। यह जानकारी दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने सोमवार को दी। उन्होंने बताया कि दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) और क्लस्टर बसों के 5,500 बसों के बेड़ों के उन्नयन का उद्देश्य यात्रियों के लिए विशेषकर महिलाओं के लिए सुरक्षित यात्रा मुहैया कराना है। परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दिल्ली मंत्रिमंडल ने पिछले साल दिसंबर में इस योजना को मंजूरी दी थी, लेकिन कोरोना वायरस की महामारी की वजह से काम रूका हुआ था। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में तेजी से हो रही है जांच, हर संक्रमित की पहचान करना लक्ष्य: सत्येंद्र जैन 

उन्होंने बताया, ‘‘प्रत्येक बस में तीन सीसीटीवी कैमरे, 10 आपात बटन और जीपीएस लगेगा। इस योजना पर करीब 150 करोड़ रुपये का खर्च आने की उम्मीद है।’’ अधिकारी ने बताया कि जीपीएस की मदद से विभाग ऐप आधारित सजीव बस सूचना सूविधा शुरू कर सकेगा। उन्होंने बताया कि विभाग पहले ही बिना संपर्क टिकट देने के लिए मोबाइल ऐप पर काम कर रहा है और इसी में बस की स्थिति जानने की सुविधा जोड़ी जाएगी। उन्होंने बताया कि एक बार प्रणाली स्थापित होने पर दिल्ली के सभी बस अड्डों पर बसों की स्थिति, आने के संभावित समय आदि की जानकारी दी जा सकेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।