दिल्ली पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, काला-जठेड़ी-लॉरेंस गिरोह के पांच शूटर गिरफ्तार

delhi police
दिल्ली पुलिस ने काला-जठेड़ी-लॉरेंस गिरोह के पांच शूटर गिरफ्तार किए गए है।पुलिस ने कहा कि जेल में बंद गैंगस्टर काला जठेड़ी-लॉरेंस बिश्नोई के तीन हथियारबंद शूटर बुधवार को उत्तम नगर के मोहन गार्डन इलाके स्थित एक रियल एस्टेट कंपनी के कार्यालय में घुस गए।

नयी दिल्ली। काला जठेड़ी-लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के पांच व्यक्तियों को एक रियल एस्टेट कंपनी के मालिक पर कथित तौर पर गोली चलाने और एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने के आरोप में राजस्थान से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि आरोपियों की पहचान राजस्थान निवासी सुनील कुमार मेघवाल (23) और चंद्रभान नायक (22), हरियाणा निवासी दीपक कश्यप (25) और दिल्ली निवासी दीपक (26) और कृष्ण गोपाल कश्यप (22) के रूप में हुई है। पुलिस ने कहा कि जेल में बंद गैंगस्टर काला जठेड़ी-लॉरेंस बिश्नोई के तीन हथियारबंद शूटर बुधवार को उत्तम नगर के मोहन गार्डन इलाके स्थित एक रियल एस्टेट कंपनी के कार्यालय में घुस गए। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि तीनों ने मालिक को पर्चियां दीं, उसके पैरों पर गोलियां चलाईं और फरार हो गए।

इसे भी पढ़ें: यूपी में बड़े फेरबदल की तैयारी में भाजपा, प्रदेश अध्यक्ष को लेकर इन नामों की चर्चा सबसे ज्यादा

पुलिस ने बताया कि जांच में पता चला कि पांचों व्यक्ति दो बाइक से रियल एस्टेट कंपनी के कार्यालय में आए थे। अधिकारी ने बताया कि शनिवार को सूचना मिली थी कि जेल में बंद जठेड़ी-बिश्नोई ने एक करोड़ रुपये की रंगदारी वसूलने के लिए दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान के शूटरों को काम पर रखा था। पुलिस उपायुक्त (विशेष प्रकोष्ठ)प्रमोद कुशवाह ने बताया कि पुलिस ने रविवार को श्रीगंगानगर में छापेमारी करके मेघवाल को गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि उसके खुलासे के आधार पर हनुमानगढ़ में छापेमारी की गई और चार अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने कहा कि आरोपियों ने स्वीकार किया कि उन्होंने जेल में बंद गैंगस्टर काला जठेड़ी और लॉरेंस बिश्नोई से निर्देश मिलने के बाद रियल एस्टेट कंपनी के मालिक पर गोली चलाई थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़